Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

इज ऑफ डूइंग बिजनेस रैंकिंग में सुधार करने के लिए मुख्य सचिव ने क्या दिए सुझाव, पढ़े

हरियाणा की मुख्य सचिव (Chief Secretary) केशनी आनन्द अरोड़ा ने विभागाध्यक्षों को बिजनेस रिफॉर्म एक्शन प्वाइंट (बीआरएपी) को सितंबर माह के अंत तक शत-प्रतिशत करने के निर्देश दिए ताकि ईज ऑफ डूइंग बिजनेस (ईओडीबी) रैंकिंग में भी सुधार हो।

IAS अधिकारी केशनी आनंद अरोड़ा को हरियाणा का नया मुख्य सचिव नियुक्त किया गया
X
Haryana govt today appointed senior IAS officer Keshni Anand Arora as the state new Chief Secretary

चंडीगढ़। हरियाणा की मुख्य सचिव केशनी आनन्द अरोड़ा ने विभागाध्यक्षों को बिजनेस रिफॉर्म एक्शन प्वाइंट (बीआरएपी) को सितंबर माह के अंत तक शत-प्रतिशत करने के निर्देश दिए ताकि ईज ऑफ डूइंग बिजनेस (ईओडीबी) रैंकिंग में भी सुधार हो।

केशनी आनन्द अरोड़ा (Anand Arora) आज यहां बिजनेस रिफॉर्म एक्शन प्लान के कार्यान्वयन की प्रगति के बारे में आयोजित समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहीं थीं। बैठक में उद्योग एवं वाणिज्य विभाग के निदेशक, साकेत कुमार ने राज्य एवं जिला बिजनेस रिफॉर्म एक्शन प्लान से संबंधित प्रस्तुति दी जिसमें राज्य एवं जिला व्यापार सुधार कार्य योजना की जानकारी दी गई।

अरोड़ा ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि बिजनेस रिफार्म के लिए सभी संबंधित विभाग आपसी तालमेल के साथ कार्य करें व सभी सेवाओं को आनलाइन (Online) माध्यम से निर्धारित समय सीमा में दिया जाना सुनिश्चित करें।

इसके अलावा जितने भी व्यपारियों द्वारा व्यापार स्थापित करने के लिए अनापत्ति प्रमाण पत्र लिए जाते हैं उनके लिए स्टेटस ट्रैकिंग प्रणाली व दस्तावेज अपलोड प्रणाली भी शामिल की जाये ताकि व्यापारियों को कार्यालयों के चक्कर न लगाने पडें। उन्होंने प्रशासनिक सचिवों को निर्देश दिए कि वे व्यक्तिगत रूप से सुधार कार्य योजना के लिए किये जाने वाले कार्यों की समीक्षा करें।

बैठक में बताया गया कि केंद्र सरकार द्वारा बिजनेस रिफॉर्म एक्शन प्वाइंट के तहत जिला स्तर पर 213 बिन्दुओं को तथा राज्य स्तर पर 301 बिन्दुओं को कार्यान्वित किया जाना है जिस पर हरियाणा द्वारा तेजी से कार्य किया जा रहा है इससे व्यापारियों को और भी सुविधाएं प्राप्त हो सकेंगी।

बैठक में राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव विजयवर्धन, पुरातत्व-संग्रहालय तथा अभिलेखागार विभाग प्रधान सचिव अशोक खेमका, उद्योग एवं वाणिज्य विभाग के प्रधान सचिव अपूर्व कुमार सिंह तथा पीएमजी के एसोसिएट निदेशक, धवल पिपलानी के अलावा अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Next Story