Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

एयरोस्पेस व डिफेंस क्षेत्र के उद्योगों का हब बनेगा हरियाणा

दुष्यंत चौटाला ने बताया कि एयरोस्पेस एंड डिफेंस पॉलिसी बनाने के लिए एक कमेटी बनाई जाएगी जो अगले 15-20 दिन में स्टेकहोल्डर्स से सुझाव लेकर पॉलिसी का ड्रॉफ्ट तैयार करेगी।

एयरोस्पेस व डिफेंस क्षेत्र के उद्योगों का हब बनेगा हरियाणा
X

हरियाणा को एयरोस्पेस व डिफेंस क्षेत्र के उद्योगों का भी हब बनाया जाएगा, इसके लिए 'एयरोस्पेस एंड डिफेंस पॉलिसी' बनाई जा रही है। यह जानकारी उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने हरियाणा नागरिक उड्डïयन विभाग तथा पीएचडी चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री द्वारा संयुक्त रूप से पंचकूला के लोक निर्माण विभाग के रेस्ट हाऊस में स्टेकहोल्डर्स की कान्फ्रैंस के बाद दी। उन्होंने बताया कि पॉलिसी बनाने के लिए हरियाणा के नागरिक उड्डïयन विभाग के महानिदेशक डॉ. साकेत कुमार की अध्यक्षता में नागरिक उड्डïयन विभाग, एमएसएमई विभाग, उद्योग विभाग के निदेशक तथा पीएचडी चैंबर ऑफ कॉमर्स के प्रतिनिधियों की एक कमेटी बनाई जाएगी जो अगले 15-20 दिन में स्टेकहोल्डर्स से सुझाव लेकर पॉलिसी का ड्रॉफ्ट तैयार करेगी।

उन्होंने बताया कि राज्य सरकार की कोशिश रहेगी कि एक मई 2021 को 'एयरोस्पेस एंड डिफेंस पॉलिसी' बनकर तैयार हो जाए। डिप्टी सीएम, जिनके पास नागरिक उड्डïयन विभाग का प्रभार भी है, ने इससे पूर्व 'एयरोस्पेस एंड डिफेंस पॉलिसी' गठित करने के लिए सुझाव लेने हेतु स्टेकहोल्डर्स की आयोजित की गई कान्फ्रैंस की अध्यक्षता की। देशभर से 'एयरोस्पेस एंड डिफेंस' के क्षेत्र में नामी कंपनियों से आए प्रतिनिधियों के सुझाव लेने व चर्चा करने के बाद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि हरियाणा सरकार ने स्टेकहोल्डर्स से कई राऊंड की चर्चा करके एक ऐसी अद्वितीय नीति 'हरियाणा उद्योग एवं रोजगार नीति-2020' बनाई है जिसकी पूरे देश में प्रशंसा हो रही है, यही नहीं कई राज्यों ने तो हरियाणा सरकार की इस नीति का अनुकरण भी किया है।

दुष्यंत चौटाला ने कहा कि ऑटो सेक्टर में तो हरियाणा राज्य पहले से ही अग्रणी है,अब 'एयरोस्पेस एंड डिफेंस पॉलिसी' बनाकर राज्य में एयरोस्पेस तथा डिफेंस से जुड़े अधिक से अधिक उद्योगों को आमंत्रित करना चाहते हैं ताकि हरियाणा इन क्षेत्रों में भी हब बन सके। उन्होंने बताया कि हिसार में जो एविएशन-हब तैयार हो रहा है उससे एयरोस्पेस तथा डिफेंस क्षेत्र के अन्य उद्योगों को भी आने का अवसर मिलेगा। इससे पहले पीएचडी चैंबर ऑफ कामर्स के उपाध्यक्ष प्रदीप मुलतानी ने उपमुख्यमंत्री तथा हरियाणा सरकार के अधिकारियों का यहां पहुंचने पर स्वागत करते हुए कहा कि देश की सेनाओं में हरियाणा का योगदान अहम है। रक्षा के क्षेत्र में उद्योगों के लिए नीति बनाना वर्तमान समय की मांग है। यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत को भी मजबूती प्रदान करेगा। पीएचडी चैंबर ऑफ कामर्स की हरियाणा चैप्टर के चेयरमैन प्रणव गुप्ता ने कहा कि चैंबर के प्रतिनिधियों द्वारा हरियाणा सरकार को यह पॉलिसी बनाए जाने में हर संभव सहयोग किया जाएगा।

Next Story