Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

चौधरी रणबीर सिंह यूनिवर्सिटी की बीएड, बीपीएड, डीपीएड और एमएड की परीक्षाएं 26 अक्टूबर से

जींद के साथ-साथ पानीपत, सोनीपत, फरीदाबाद, पलवल, महेंद्रगढ़, रेवाड़ी और हिसार तथा एक बीएड कालेज चरखी दादरी के सहित 188 बीएड काॅलेज सीआरएसयू से जुड़े हुए हैं। जिनमें 44837 पंजीकृत विद्यार्थी हैं।

चौधरी रणबीर सिंह यूनिवर्सिटी की बीएड, बीपीएड, डीपीएड और एमएड की परीक्षाएं 26 अक्टूबर से
X

हरिभूमि न्यूज : जींद

चौधरी रणबीर सिंह यूनिवर्सिटी( CRSU) रजिस्ट्रार प्रो. राजेश पूनिया, डीन ऑफ अकादमिक प्रो. एसके सिन्हा, परीक्षा नियंत्रक डा. राजेश बंसल ने बताया कि बीएड की ऑनलाइन परीक्षाएं(Online exams) 26 अक्टूबर से ली जाएंगी। इसके अलावा बीपीएड, डीपीएड, एमएड सहित राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद से स्वीकृत कालेजों में विभिन्न कोर्स की परीक्षाएं भी 26 अक्टूबर से ही ऑनलाइन ली जाएंगी। ऑनलाइन परीक्षाओं में विद्यार्थियों (Students) को कोई परेशानी नहीं होगी। परीक्षाओं से पहले रियल टाइम मॉक टेस्ट (Mock test) होगा जिसमें विद्यार्थियों को पेपर सेट दिया जाएगा।

सीआरएसयू रजिस्ट्रार प्रो. राजेश पूनिया, डीन ऑफ अकादमिक प्रो. एसके सिन्हा, परीक्षा नियंत्रक डा. राजेश बंसल बुधवार को पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जींद के साथ-साथ पानीपत, सोनीपत, फरीदाबाद, पलवल, महेंद्रगढ़, रेवाड़ी और हिसार तथा एक बीएड कालेज चरखी दादरी के सहित 188 बीएड कालेज सीआरएसयू से जुड़े हुए हैं। जिनमें 44837 पंजीकृत विद्यार्थी हैं। इनमें रेग्यूलर 40481 और री-अपीयर 4556 विद्यार्थी हैं। इनमें से बुधवार दोपहर तक 42508 विद्यार्थी ऑनलाइन परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन कर चुके हैं।

मॉक टेस्ट का शेड्यूल

जिनके नाम का पहला अक्षर ए से एच तक आता है वे विद्यार्थी 22 अक्टूबर को तीन से चार बजे तक ऑनलाइन मॉक टेस्ट में हिस्सा लेंगें। जिनके नाम का पहला अक्षर आई से ओ तक आता है वे विद्यार्थी 23 अक्टूबर को तीन से चार बजे तक ऑनलाइन मॉक टेस्ट में हिस्सा लेंगे। जिनके नाम का पहला अक्षर पी से जेड तक आता है वे विद्यार्थी 24 अक्टूबर को तीन से चार बजे तक ऑनलाइन मॉक टेस्ट में हिस्सा लेंगे।

साफ्टवेयर पकड़ेगा परीक्षार्थियों की चीटिंग को

सीआरएसयू रजिस्ट्रार प्रो. राजेश पूनिया, डीन ऑफ अकादमिक प्रो. एसके सिन्हा, परीक्षा नियंत्रक डा. राजेश बंसल ने बताया कि विद्यार्थी घर या बाहर इंटरनेट कैफे पर बैठ कर परीक्षा दे सकते हैं। परीक्षा के समय अकेले बैठना भी अनिवार्य नहीं है। परीक्षा नियंत्रक डा. राजेश बंसल ने बताया कि एक जगह पर 10 विद्यार्थी बैठ कर परीक्षा दे सकते हैं। प्रश्न पत्रों के सीरियल नंबर अलग-अलग होंगे जिससे किसी भी विद्यार्थी का प्रश्न पत्र का आपस में मिलान नहीं होगा। अगर कोई परीक्षा के दौरान चीटिंग करेगा तो सॉफ्टवेयर उसे तुरंत पकड़ लेगा और उसकी यूएमसी बना दी जाएगी।

एक प्रश्न का मिलेगा एक मिनट

ऑनलाइन परीक्षा 80 अंकों की होगी। जिसमें एक प्रश्न एक अंक का होगा। एक प्रश्न को हल करने के लिए 45 सेकेंड मिलते थे लेकिन ऑनलाइन परीक्षा में विद्यार्थियों को तकनीकी कारणों से ज्यादा समय लग सकता है। इसको ध्यान में रखते हुए एक प्रश्न को हल करने के लिए एक मिनट का समय दिया गया है। प्रश्न पत्र ऑब्जेक्टिव टाइप होगा। जो बहुविकल्पी आधारित होगा। बहुविकल्पी आधारित प्रश्न पत्र में कोई च्वॉइस नहीं मिलेगी। सिलेबस से 33 प्रतिशत प्रश्न आसान, 34 प्रतिशत प्रश्न मध्यम और 33 प्रश्न कठिन होंगे। 80 अंकों के पेपर में 60 मिनट[ 40 अंकों के पेपर में 30 मिनट 70 अंकों के पेपर को हल करने में 53 मिनट का समय मिलेगा।

Next Story