Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

राजस्थान में फिर हो सकती है राजनीतिक उठापटक- गहलोत ने बुलाई मंत्रीपरिषद की बैठक, जानिए क्या होगी रणनीति

राजस्थान की राजनीति में एक बार फिर से संकट के बादल छाते दिख रहे हैं। शनिवार को राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने केंद्रीय मंत्री अमित शाह और धर्मेंद्र प्रधान पर राज्य की कांग्रेस सरकार को अस्थिर करने का आरोप लगाया था। उन्होंने केंद्र सरकार पर आरोप लगाया था कि एक बार फिर से विधायकों की खरीद फरोख्त कर हमारी सरकार गिराने के मंसूबे बनाए जा रहे हैं।

राजस्थान में फिर हो सकता है राजनीतिक उठापटक- गहलोत ने बुलाई मंत्रीपरिषद की बैठक, जानिए क्या होगी रणनीति
X

गहलोत ने बुलाई मंत्रीपरिषद की बैठक

जयपुर। राजस्थान की राजनीति में एक बार फिर से संकट के बादल छाते दिख रहे हैं। शनिवार को राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने केंद्रीय मंत्री अमित शाह और धर्मेंद्र प्रधान पर राज्य की कांग्रेस सरकार को अस्थिर करने का आरोप लगाया था। उन्होंने केंद्र सरकार पर आरोप लगाया था कि एक बार फिर से विधायकों की खरीद फरोख्त कर हमारी सरकार गिराने के मंसूबे बनाए जा रहे हैं। गहलोत ने दावा किया कि शाह और प्रधान ने भाजपा सांसद सैयद जफर इस्लाम के साथ हाल ही में कांग्रेस के कुछ विधायकों के साथ चाय पर मुलाकात की और उन्हें समझाने की कोशिश की कि राजस्थान में कांग्रेस की सरकार को गिराया जा सकता है जैसा कि पांच अन्य राज्यों में किया गया है। गहलोत ने कहा कि विधायकों के साथ शाह की बैठक एक घंटे तक चली। विधायकों ने मुझे बताया कि उन्होंने (भाजपा सदस्यों ने) हमें यह महसूस कराने की कोशिश की कि यह उनके (शाह) के लिए गर्व की बात है कि पांच राज्य सरकारें गिराई जा चुकी हैं और छठवीं को गिराया जा सकता है।

शाम छह बजे मुख्यमंत्री आवास पर होगी बैठक

वहीं इन राजनीतिक बयानबाजी के बीच मुख्यमंत्री आवास पर शाम 6 बजे से आयोजित होने वाली इस बैठक में मंत्रियों की उपस्थिति अनिवार्य रखी गई है। बताया जाता है कि कुछ मंत्री सीएम आवास पर बैठक में शामिल होंगे जबकि कई मंत्री वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बैठक में शामिल होंगे। मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में होने वाली मंत्रिसमूह की बैठक में कई अहम फैसले लिए जा सकते हैं। बताया जाता है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत प्रदेश में चल रही सरकार गिराने की साजिशों की जानकारी भी मंत्रियों के साथ साझा करेंगे, साथ ही हर स्थिति में एक रहने और भाजपा के कथित षड़यंत्र को सफल नहीं होने की बात कर सकते हैं। वहीं चर्चा ये भी है कि मंत्रि समूह की बैठक में पंचायत जिला परिषद के चुनाव और निकाय चुनावों को लेकर भी मुख्यमंत्री मंत्रियों से फीडबैक लेंगे।

Next Story