Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मोबाइल विक्रेता की बहादुरी के आगे भाग खड़े हुए लुटेरे, डटकर किया मुकाबला

गुरमीत सिंह ने बताया कि लुटेरों (Robbers) ने बैग छीनने के लिए उस पर हमला भी किया लेकिन उसने बैग को नहीं छोड़ा। गुरमीत सिंह ने बताया कि सड़क पर हो रही चीख पुकार को सुनकर साथ लगते राइस मिल में काम करने वाले कुछ मजदूर वहां पहुंच गए, जिन्हें देखकर लुटेरे वहां से भाग खड़े हुए।

मोबाइल विक्रेता की बहादुरी के आगे भाग खड़े हुए लुटेरे, डटकर किया मुकाबला
X

बिरध थेह रोड पर हुई घटना की सीसीटीवी में कैद फुटेज का दृश्य

हरिभूमि न्यूज : गुहला-चीका

अपनी दुकान बंद कर घर जा रहे एक मोबाइल विक्रेता (Mobile seller) को बिरध थेह रोड पर कुछ अज्ञात लुटेरों ने बाइक आगे अड़ा सड़क पर गिरा दिया और रिवाल्वर दिखा उसका रुपयों से भरा बैग (Bag) छिनने का प्रयास किया, लेकिन मोबाइल विक्रेता ने लुटेरों (Robbers) का डटकर मुकाबला किया और बैग को जोर से पकड़ चीखने लगा। सड़क पर हो रही चीख पुकार को सुनकर साथ लगते सैलर में काम करने वाले मजदूर जब घटना स्थल पर आए तो लुटेरे उन्हें देख खाली हाथ भाग खड़े हुए।

बिरध थेह निवासी गुरमीत सिंह ने चीका थाना में लिखित शिकायत दे बताया कि वह अपनी मोबाइल की दुकान बंद कर अपने घर बिरध थेह जा रहा था तो हनुमान राइस मिल के पास अचानक दो बाइकों पर सवार हुए छह लोगों ने उसकी बाइक के सामने आनी बाइक खड़ी कर उसे सड़क पर गिरा दिया और रिवाल्वर दिखाते हुए बैग छिनने का प्रयास किया। गुरमीत सिंह ने बताया कि बैग में उसकी दुकान की दिन भर की दुकानदारी के रुपये रखे थे। गुरमीत सिंह ने बताया कि लुटेरों ने बैग छीनने के लिए उस पर हमला भी किया लेकिन उसने बैग को नहीं छोड़ा। गुरमीत सिंह ने बताया कि सड़क पर हो रही चीख पुकार को सुनकर साथ लगते राइस मिल में काम करने वाले कुछ मजदूर वहां पहुंच गए, जिन्हें देखकर लुटेरे वहां से भाग खड़े हुए। गुरमीत सिंह की शिकायत के बाद पुलिस ने घटना स्थल का दौरा किया और आसपास मौजूद लोगों से लुटेरों की पहचान जानने का प्रयास किया। पुलिस ने घटना स्थल के आसपास लगे सीसीटीवी को खंगाल सबूत जुटाने का प्रयास किया है।

पुलिस हर एंगल से जांच कर रही है

गुरमीत सिंह की शिकायत पर अज्ञात लुटेरों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। लुटेरों का सुराग लगाने के लिए पुलिस हर एंगल से जांच कर रही है। साइबर सेल की टीम घटना स्थल के डम उठाने में लगी है ताकि लुटेरों का सुराग आसानी से लग सके। लूट का प्रयास करने वाले लोग जल्द ही पुलिस की सलाखों के पीछे होंगे। - केहर सिंह, जांच अधिकारी चीका थाना।




और पढ़ें
Next Story