Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Unnao rape case : टीचर ने स्कूल में किया छात्रा से रेप, धमकी से डरी तो घर भी जाने लगा, फिर हुआ ये...

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक उन्नाव के आसीवन स्थित स्कूल में दसवीं कक्षा की इस छात्रा से दुष्कर्म करने के आरोपी का नाम प्रदीप कुमार है, जो कि बीजीमऊ का रहने वाला बताया गया है। प्रदीप पर आरोप है कि वह पिछले कई दिनों से छात्रा के पीछे पड़ा था।

महिला को अकेली देख दीवार कूद कर घर में घुसा पड़ोसी, फिर...
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

उत्तर प्रदेश का उन्नाव जिला एक बार फिर से सुर्खियों में है। इस बार एक कलयुगी टीचर ने स्कूल में नाबालिग छात्रा का अपनी हवस का शिकार बना लिया। यही नहीं छात्रा जान से मारने की धमकी से डरी तो आरोपी के हौसले इतने बुलंद हो गए कि उसके घर जाकर अपने गलत मंसूबे पूरे करने लगा। मामला सामने आने के बाद परिजनों ने पुलिस को शिकायत दी तो पहले कोई सुनवाई नहीं हुई। मामला उच्च अधिकारियों के पास पहुंचा तो करीब पांच दिन बाद जाकर आरोपी के खिलाफ केस दर्ज हो सका।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक उन्नाव के आसीवन स्थित स्कूल में दसवीं कक्षा की इस छात्रा से दुष्कर्म करने के आरोपी का नाम प्रदीप कुमार है, जो कि बीजीमऊ का रहने वाला बताया गया है। प्रदीप पर आरोप है कि वह पिछले कई दिनों से छात्रा के पीछे पड़ा था। एक दिन उसने छात्रा को जबरन स्कूल में रोक लिया और वहां पर उससे दुष्कर्म कर डाला। छात्रा को धमकी दी गई कि अगर उसने किसी को कुछ भी बताया तो वह जान से मार देगा।

15 वर्षीय यह छात्रा डर के चलते चुप रही, जिससे आरोपी शिक्षक के हौसले बढ़ गए। उसने पीड़िता के परिजनों को इस बात के लिए मना लिया कि वह घर आकर उनकी बेटी को ट्यूशन देने के लिए तैयार है। बेटी के उज्जवल भविष्य का सपना देख रहे परिजनों को इस बात का जरा भी अंदेशा नहीं था कि आरोपी शिक्षक के मन में क्या चल रहा है। इस कलयुगी शिक्षक की हकीकत तब सामने आई, जब लड़की के पिता ने उसे अपनी आंखों से गलत हरकत करते देख लिया। आरोपी ने जब देखा कि वह पकड़ा गया तो है तो वहां से फरार हो गया। परिजनों ने जब लड़की से इस बारे में पूछा तो उसने रोते हुए आपबीती सुना दी। इसके बाद परिजन तुरंत संबंधित थाने गए, लेकिन आरोप है कि वहां पर कोई सुनवाई नहीं हुई। इस पर परिजनों ने एसपी ऑफिस में शिकायत दी, जिसके बाद बुधवार देर रात आरोपी प्रदीप के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया।

बता दें कि उन्नाव में कुछ दिन पहले भी तीन लड़कियों को जहरीला पदार्थ दिया गया था, जिसमें बुआ-भतीजी की मौत हो गई थी। इसे लेकर जमकर राजनीति हुई थी। पुलिस ने जब जांच की तो पता चला कि एक युवक ने एकतरफा प्यार के चलते इस वारदात को अंजाम दिया गया था। इसमें अपने एक नाबालिग दोस्त की सहायता ली थी। इससे पहले भी उन्नाव जिला कई बार ऐसे मामलों को लेकर सुर्खियों में रह चुका है।

Next Story