Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बिना आदेश व्यापारियों ने खोली दुकानें, कलेक्टर के आदेश को बताया तुगलकी फरमान

शहर में 53 दिनों के बाद अनलॉक होने पर भी जिला प्रशासन ने मुख्य बाजार को खोलने की अनुमति नहीं दी. इसे लेकर व्यापारियों ने काफी आक्रोश जताया, जिला कलेक्टर के आदेश को तुगलकी फरमान बताया और बिना आदेश के ही दुकाने खोल दीं. पढ़िए पूरी खबर-

बिना आदेश व्यापारियों ने खोली दुकानें, कलेक्टर के आदेश को बताया तुगलकी फरमान
X

जबलपुर. शहर में 53 दिनों के बाद अनलॉक होने पर भी जिला प्रशासन ने मुख्य बाजार को खोलने की अनुमति नहीं दी. इसे लेकर व्यापारियों ने काफी आक्रोश जताया, प्रदर्शन किया, और फिर भी बात नहीं बनी तो बिना आदेश के ही दुकाने खोल दीं.

बता दें शहर में 53 दिन के कर्फ्यू के बाद मंगलवार 1 जून को कुछ शर्तों के साथ अनलॉक किया गया। शहर के खुलते ही व्यापार सहित अन्य गतिविधियां तेज हो गईं। सुबह से ही बड़ी संख्या में लोग अपने प्रतिष्ठानों पर पहुंचे और साफ सफाई शुरू कर दी। हालांकि जिला प्रशासन ने अनलॉक के बाद भी मुख्य बाज़ार को खोलने का आदेश नहीं दिया था.

इसे लेकर व्यापारियों में जबरदस्त आक्रोश दिखा. सैकड़ों की संख्या में एकत्र होकर व्यापारियों ने फुहारा चौक पर प्रदर्शन किया. इस दौरान वो जिला कलेक्टर के आदेश को तुगलकी फरमान बता कर उनका विरोध कर रहे थे.

जब प्रदर्शन के बाद भी व्यापारियों और प्रशासन के बीच बात नहीं बनी तो जबलपुर चैम्बर ऑफ कॉमर्स सहित व्यापारियों ने वर्चुअल बैठक किया और निर्णय लिया कि वे बिना आदेश ही दुकानें खोलेंगे. फिर बिना आदेश ही दुकानें खुल गईं. पुलिस जब दुकान बंद कराने पहुंची तो सैकड़ों की संख्या में आक्रोशित व्यापारी बहस पर उतर आए। मौके पर एसडीएम पहुंचे, तब व्यापारी माने।

Next Story