Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बजट में बरखेड़ा-बुधनी रेलखंड में चौथी लाइन बिछाने की मिल सकती है सौगात

पश्चिम मध्य रेलवे ने इस रेलखंड में तीसरी रेल लाइन के साथ चौथी रेल लाइन बिछाने की अनुमति बोर्ड से मांगी थी। लेकिन बोर्ड ने उस समय सिर्फ तीसरी लाइन की अनुमति दी थी।

बजट में बरखेड़ा-बुधनी रेलखंड में चौथी लाइन बिछाने की मिल सकती है सौगात
X

भोपाल। नई दिल्ली-चेन्नई रेलमार्ग व्यस्ततम रेलमार्गों में एक शामिल है। जिस पर तीसरी रेल लाइन बिछाकर दबाव कम किया जा रहा है। भोपाल मंडल में बीना से भोपाल और भोपाल से इटारसी के बीच तीसरी रेल लाइन बिछाने का काम पूरा हो गया है। ट्रेनें भी दौड़ रही हैं लेकिन भोपाल से इटारसी के बीच बरखेड़ा—बुधनी रेलखंड में अभी काम तेजी से चल रहा है। इस बीच यहां पर चौथी रेल लाइन बिछाने की योजना पर काम चल रहा है। इसको लेकर पश्चिम मध्य रेलवे की ओर से रेलवे बोर्ड को प्रस्ताव भेजा था। जिसको लेकर उम्मीद जताई जा रही है। बजट में चौथी लाइन के प्रस्ताव को हरी झांड़ी मिल सकती है।

तीसरी लाइन की अनुमति देरी से मिली थी

यह पहाड़ों के बीच से होकर गुजरता है। यहां रातापानी वन्यजीव अभयारण्य की सीमा भी लगती है जिसकी वजह से देरी से रेल लाइन की अनुमति मिली थी। 25.40 किलोमीटर लंबे दुर्गम रेलखंड में तीसरी रेल लाइन का काम चल रहा है। पश्चिम मध्य रेलवे ने इस रेलखंड में तीसरी रेल लाइन के साथ चौथी रेल लाइन बिछाने की अनुमति बोर्ड से मांगी थी। लेकिन बोर्ड ने उस समय सिर्फ तीसरी लाइन की अनुमति दी थी। अब जब तीसरी लाइन का काम तेजी से चल रहा है। इस बीच अब बजट को ध्यान में रखते हुए,एक बार फिर चौथी लाइन की अनुमति मांगी है। जिससे तीसरी रेल लाइन के साथ—साथ इस दुर्गम रेलखंड में चौथी रेल लाइन बिछाई जा सके। इस रेलखंड में तीसरी रेल लाइन पर 2023 में रेल यातायात शुरू करने की योजना है।

और पढ़ें
Next Story