Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हिमाचल न्यूज : 10 जुलाई से पहले उद्योग विभाग के नाम ट्रांसफर करें 3000 एकड़ जमीन- सीएम

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने बल्क ड्रग फार्मा पार्क के लिए नालागढ़ और ऊना में करीब 3000 एकड़ जमीन काे 10 जुलाई तक उद्याेग विभाग के नाम ट्रांसफर किए जाने के आदेश जारी किए हैं, ताकि विभाग आगे की कार्रवाई शुरू कर सके। सीएम ने सोमवार को उद्योग विभाग की समीक्षा बैठक में यह निर्देश दिए।

हिमाचल न्यूज : 10 जुलाई से पहले उद्योग विभाग के नाम ट्रांसफर करें 3000 एकड़ जमीन: सीएम
X
मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर का फाइल फोटो

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने बल्क ड्रग फार्मा पार्क के लिए नालागढ़ और ऊना में करीब 3000 एकड़ जमीन काे 10 जुलाई तक उद्याेग विभाग के नाम ट्रांसफर किए जाने के आदेश जारी किए हैं, ताकि विभाग आगे की कार्रवाई शुरू कर सके। सीएम ने सोमवार को उद्योग विभाग की समीक्षा बैठक में यह निर्देश दिए।

सीएम ने राज्य स्तरीय एकल खिड़की अनुश्रवण एवं स्वीकृति प्राधिकरण ने एकल खिड़की पोटर्ल के जरिये 6100 करोड़ रुपये के निवेश की 193 परियोजना प्रस्ताव मंजूर किए हैं। यह बात मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज यहां उद्योग विभाग की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए कही हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार ने उद्योगपत्तियों को राज्य में निवेश के लिए प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से धर्मशाला में 7 व 8 नवम्बर, 2019 को ग्लोबल इन्वेस्टर्ज मीट का आयोजन किया था, जिसमें 96721 करोड़ रुपये के 703 समझौता ज्ञापन हस्ताक्षरित किए गए। इस मीट के दो महीने के उपरान्त 13656 करोड़ रुपये के 204 समझौता ज्ञापनों का ग्राउंड ब्रेकिंग समारोह आयोजित किया गया।

जय राम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश सरकार ने व्यवसाय में सुगमता के अंतर्गत विभिन्न प्रक्रियाओं को सरल बनाया है। वित्तीय पहल की समयबद्ध स्वीकृतियों और भुगतान के उद्देश्य से हिमाचल प्रदेश औद्योगिक निवेश नीति-2019 को लागू किया गया है। सरकारी भूमि बैंक स्थापित कर 600 हेक्टेयर भूमि उपलब्ध करवाई जा चुकी है। जबकि 1300 हेक्टेयर भूमि के स्थानांतरण की प्रक्रिया जारी है।

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से निवेशकों और समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर करने वालों से निरंतर संपर्क बनाए रखने के निर्देश दिए ताकि जिन परियोजनाओं का निष्पादन होना है, उन्हें निर्धारित समय अवधि में कार्यान्वित किया जा सके। उन्होंने कहा कि वैबीनार के माध्यम से संभावित निवेशकों तथा उद्योग संघों से निरंतर संपर्क में रहा जाए। उन्होंने अधिकारियों से निवेशकों को आकर्षित करने के लिए विशेष क्षेत्रों जैसे विद्युत वाहनों, विद्युत और इलेक्टाॅªनिक्स, प्रेसिशन टूल्ज, आई.टी. हार्डवेयर के लिए कार्य योजना तैयार करने का सुझाव दिया।

जय राम ठाकुर ने कहा कि प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के अंतर्गत विभिन्न बैंकों के माध्यम से 25 लाख रुपये तक के ऋण प्रदान किए जा रहे हैं और इसके अंतर्गत परियोजना लागत की 35 प्रतिशत तक सब्सिडी भी प्रदान की जा रही है। उन्होंने कहा कि पिछले वित्त वर्ष के दौरान 1,181 परियोजनाओं के लक्ष्य के मुकाबले 1214 लाभार्थियों को गैर-कृषक आर्थिक गतिविधियों के माध्यम से युवाओं में स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए इन्हें वित्त प्रबंधित किया गया।


Next Story