Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

विज की पुलिस अफसरों को नसीहत : तैयार होकर मीटिंग में आया करें, हर किसी का रिपोर्ट कार्ड देखूंगा

अनिल विज ने सिलसिलेवार एक-एक जिले में कानून व्यवस्था को लेकर चर्चा की और साफ कर दिया कि राज्य को अपराध और अपराधी मुक्त बनाने की दिशा में गंभीरता से काम करना होगा।

Anil Vij
X

 मंत्री अनिल विज

गृहमंत्री अनिल विज ने गुरुवार को चंडीगढ़ हरियाणा निवास में राज्य पुलिस के आला अफसरों के साथ में मैराथन बैठक की। इस दौरान अनिल विज ने सिलसिलेवार एक-एक जिले में कानून व्यवस्था को लेकर चर्चा की और साफ कर दिया है कि राज्य को अपराध और अपराधी मुक्त बनाने की दिशा में गंभीरता से काम करना होगा। विज ने स्पष्ट कर दिया है कि जिन जिलों में अथवा मुख्यालय पर अफसरों की परफॉर्मेंस ठीक नहीं है, उनको इसमें सुधार करना होगा।

हरियाणा निवास चंडीगढ़ में आयोजित बैठक देर रात नौ बजे तक चली। जिसमें हरियाणा पुलिस प्रमुख मनोज यादव, एडीजीपी ला एंड आर्डर नवदीप सिंह विर्क सहित सभी आला अफसर मौजूद रहे। अनिल विज ने प्रदेश मुख्यालय के वरिष्ठ अफसरों के साथ साथ सभी जिलों में तैनात पुलिस अधीक्षकों से भी चर्चा की व प्रदेश की कानून व्यवस्था के बारे में विस्तार से पूछा गया। बैठक के दौरान कईं पुलिस अफसरों ने छोटे स्टाफ की कमी का मुद्दा भी सामने आया है। जिस पर विज ने आश्वस्त किया कि जल्द ही इस कमी को पूरा किया जाएगा, भर्तियां होंगी।

सुस्त चाल वाले अफसरों को दो टूक

हरियाणा के गृहमंत्री ने सुस्त चाल और मामलों को टालने वाले पुलिस अफसरों को साफ कर दिया है कि उनको अपनी परफॉर्मेंस में तुरंत ही सुधार की जरूरत है। विज ने साफ कर दिया है कि अब इस तरह की समीक्षा बैठकें लगातार होंगी इसीलिए अगली बैठकों मे तैयार होकर पुलिस अफसर आएं। जिसमें उनके कामकाज, परफारमेंस सभी बिंदुओं का ध्यान रखा जाएगा।

बड़े अपराधियों पर भी एसटीएफ की नजर

प्रदेश के गृहमंत्री विज ने कहा कि हमने संगठित अपराधों पर लगाम लगाने के लिए चर्चा की है। जिसको लेकर एसटीएफ लगातार काम कर रहा है। विज ने साफ तौर पर कहा कि आने वाले दिनों में पुलिस की मौजूदगी और सक्रियता साफ नजर आएगी। हरियाणा नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो चीफ श्रीकांत जाधव के गुरुवार की मीटिंग में नहीं आने को लेकर विज ने कहा कि उनके साथ में बातचीत कर, दिक्कतों को पूरी तरह से दूर कर दिया जाएगा। विज ने कहा कि हरियाणा के अंदर हमने ड्रग, नशा तस्करों सभी बातों को लेकर सिलसिलेवार समीक्षा हुई है, आने वाले दिनों में भी इस तरह की समीक्षा बैठक होती रहेंगी।

स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर से बेहतर करने का संकल्प दोहराया

गृहमंत्री अनिल विज गुरुवार को भरपूर एक्शन वाले अंदाज में नजर आए, जिन्होंने पहले हरियाणा स्वास्थ्य विभाग की अहम बैठक लेकर कोविड सहित राज्य की स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर से बेहतर करने का संकल्प दोहराया। दोपहर बाद में गृहमंत्री विज ने गृह विभाग पुलिस के आला-अफसरों की तीन घंटे से ज्यादा वक्त मैराथन मीटिंग ली व इस दौरान उन्होंने डीजीपी, एडीजीपी, आईजी से लेकर हर पुलिस अफसर के मन की बात सुनी। जिसमें कईं वरिष्ठ अफसरों ने अहम सुझाव देते हुए आईजी, एसपी की वित्तीय पावर की ओर ध्यान दिलाया साथ ही पुलिस में मूलभूत सुविधाओं, ग्रुप डी स्टाफ की कमी की ओर ध्यान दिलाया। सभी के मन की बात सुनने के बाद में गृहमंत्री ने जहां कुछ अफसरों को शाबासी दी, तो वहीं कुछ को इशारों ही इशारों में परफारमेंस सुधारने की नसीहत भी देते हुए साफ कर दिया कि इस तरह की समीक्षा बैठकें होती रहेंगी। अहम बात यह है कि गुरुवार को हरियाणा निवास चंडीगढ़ में यह बैठक बुलाई गई थी। जिसमें पुलिस मुख्यालय पंचकूला के सभी आला अफसरों में डीजीपी, एडीजीपी रेंक के सभी अफसर हिस्सा लेने पहुंचे हुए थे। इसके अलावा हर रेंज के आईजी और जिलेवार एसपी अन्य अफसरों को वीसी के जरिये जोड़ा गया था। विज ने जिलेवार अपराधों पर अंकुश लगाने, ड्रग, तस्करी पर रोक सहित तमाम विषयों पर विस्तार से चर्चा की।

सभी आला अफसरों ने अपनी प्रजेंटेशन दी

गुरुवार को गृहमंत्री विज के सामने सभी आला अफसरों ने अपनी अपनी प्रजेंटेशन दी। मीटिंग के दौरान एसटीएफ प्रमुख सतीश बालन, एडीजी क्राइम, एडीजी प्रशासन सभी ने अपने अपने कामकाज को लेकर उठाए जा रहे कदमों के बारे में ब्योरा दिया। इस दौरान आईजी करनाल भारती अरोड़ा ने कहा कि विभाग में नफरी (मैनपावर) तो बढ़ी हैं लेकिन मूलभूत सुविधाओं की बेहद कमी है। एसपी और आईजी की वित्तीय क्षमता भी बेहद कम है। इसके अलावा वित्तीय पावर के कारण हो रही दिक्कतों का जिक्र भी किया गया। जिस पर इसे बढ़ाकर तुरंत ही आईजी को पांच लाख और एसपी की एक लाख करने को लेकर विज ने सहमति दे दी है। इसके अलावा किन किन जिलों में अपराधों में कमी आयी और कहां पर बढ़े इसको लेकर भी सिलसिलेवार चर्चा हुई। वैसे, 2019 के मुकाबले 2020 में अपराध कम होने को लेकर गृहमंत्री ने संतोष जाहिर किया।

Next Story