Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Survey : अनियंत्रित उच्च रक्तचाप से मध्य आयु वर्ग के लोगों को दिल के दौरे और स्ट्रोक का खतरा अधिक

भारत में जनवरी 2021 में प्रकाशित उम्र बढऩे संबंधी अध्ययन (एलएएसआई वेव 1) के आंकड़ों का उपयोग करते हुए, प्रमुख चिकित्सा विज्ञान संस्थान ( IMS ) बीएचयू तथा ग्रिड काउंसिल के सामुदायिक चिकित्सा विभाग ने उच्च रक्तचाप ( High Blood Pressure ) के बोझ और देश की उम्रदराज होती आबादी में नियंत्रण दर का दोबारा विश्लेषण किया।

कहीं आपको तो नहीं हैं High Blood Pressure , ऐसे पहचानें इसके शुरुआती लक्षण
X

High Blood Pressure 

चंडीगढ़। भारत में जनवरी 2021 में प्रकाशित उम्र बढऩे संबंधी अध्ययन (एलएएसआई वेव 1) के आंकड़ों का उपयोग करते हुए, प्रमुख चिकित्सा विज्ञान संस्थान ( IMS ) बीएचयू तथा ग्रिड काउंसिल के सामुदायिक चिकित्सा विभाग ने उच्च रक्तचाप ( High Blood Pressure ) के बोझ और देश की उम्रदराज होती आबादी में नियंत्रण दर का दोबारा विश्लेषण किया। एलएएसआई भारत के सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में 45 वर्ष व उससे अधिक आयु के 72,000 से अधिक वृद्ध वयस्कों का राष्ट्रीय स्तर का एक प्रतिनिधि सर्वेक्षण है, जो स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ( Ministry of Health and Family Welfare ) द्वारा अंतर्राष्ट्रीय जनसंख्या विज्ञान संस्थान ( International Institute of Population Sciences), मुंबई द्वारा कराया जाता है।

बीएचयू और ग्रिड ने एलएएसआई डेटा के विश्लेषण के आधार पर एक फैक्ट शीट जारी की है, जिसके परिणाम चौंकाने वाले हैं। 45 वर्ष और उससे अधिक आयु के लगभग 45 प्रतिशत भारतीय उच्च रक्तचाप से पीड़ित हैं, जबकि अन्य 40 प्रतिशत में उच्च रक्तचाप से पहले वाले लक्षण मौजूद हैं। कोविड-19 महामारी के दौरान प्रतिकूल परिणामों के लिए उच्च रक्तचाप को एक प्रमुख जोखिम कारक के रूप में पहचाना गया है। फैक्ट शीट पर प्रतिक्रिया देते हुए स्ट्रेंगथनिंग मैनेजमेंट ऑफ हाइपरटेंशन सर्विसेज प्रोजेक्ट (एसएमएचएसपी), पंजाब के प्रिंसिपल इन्वेस्टिगेटर एवं डिपार्टमेंट ऑफ कम्युनिटी मेडिसिन एंड स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ, पीजीआईएमईआर चंडीगढ़ में प्रोफेसर, डॉ. सोनू गोयल ने कहा, 'विश्लेषण ने इस रीजन के लिए एक चिंताजनक स्थिति पैदा कर दी है। 60 प्रतिशत मामलों के साथ पंजाब भारत में उच्च रक्तचाप के उच्चतम प्रसार वाले क्षेत्रों में से एक है।

अध्ययन में क्षेत्रीय असमानताओं का भी पता चलता है, लेकिन कोई निर्धारित पैटर्न नहीं मिला है, जैसे कि हिमाचल प्रदेश और नागालैंड जैसे पहाड़ी राज्यों मेें उच्च प्रसार का पता चला है, ठीक वैसे जैसे केरल और लक्षद्वीप में जैसे तटीय क्षेत्रों में है।' डॉ. गोयल ने बताया कि एलएएसआई अध्ययन के निष्कर्ष उच्च रक्तचाप पर नवीनतम एनएफएचएस-4 डेटा से मेल खाते हैं जो बताता है कि 15-49 वर्ष की आयु वर्ग के पुरुषों में उच्च रक्तचाप का प्रसार समान आयु वर्ग की महिलाओं की तुलना में अधिक है। उन्होंने कहा, 'विश्लेषण के अनुसार, 45 प्रतिशत भारतीय वयस्क उच्च रक्तचाप से ग्रस्त मिले, जबकि लगभग 30 प्रतिशत को निदान और नियंत्रण के अभाव में उच्च रक्तचाप था।

Next Story