Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोख के कातिलों पर शिकंजा : गर्भपात की दवा बेचते दो झोलाछाप डाक्टर और एक फार्मासिस्ट गिरफ्तार

फरीदाबाद के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. विनय गुप्ता को सूचना मिली थी कि त्रिखा कालोनी और 20 फुट रोड स्थित क्लीनिक के संचालक अवैध तरीके से गर्भपात संबंधी दवाएं बेच रहे हैं।

कोख के कातिलों पर शिकंजा : गर्भपात की दवा बेचते दो झोलाछाप डाक्टर और एक फार्मासिस्ट गिरफ्तार
X

गर्भपात की दवाई बेचने के आरोपी पुलिस की गिरफ्त में।

फरीदाबाद। फरीदाबाद जिला स्वास्थ्य विभाग की टीम ने सोमवार देर रात बल्लभगढ़ में गर्भपात संबंधी दवाएं बेचने वाले दो क्लीनिक पर छापेमारी की। स्वास्थ्य विभाग की इस कार्रवाई में दो झोलाछाप डाक्टर और एक फार्मासिस्टठ को गिरफ्तार किया है। इस दौरान अग्रसेन चौकी की पुलिस भी मौजूद थी।

फरीदाबाद के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. विनय गुप्ता को सूचना मिली थी कि त्रिखा कालोनी और 20 फुट रोड स्थित क्लीनिक के संचालक अवैध तरीके से गर्भपात संबंधी दवाएं बेच रहे हैं। सूचना के आधार पर वरष्ठि चिकत्सिा अधिकारी डा. हरजिंदर सिंह के नेतृत्व में टीम गठित की। टीम में डा. सन्नी डहनवाल, डा. राखी और डा. राशि शामिल थी। छापेमारी से पूर्व एक गर्भवती महिला को तैयार किया। इसके बाद सबसे पहले त्रिखा कालोनी स्थित बंगाली क्लीनिक पर गर्भवती को गर्भपात की गोलियां खरीदने के लिए भेजा।

महिला ने क्लीनिक पर पहुंच का डा. विवेकानंद से गर्भपात गोली की मांग की। वह महिला से 600 रुपये लेकर 20 फुट रोड स्थित एक मेडिकल स्टोर पर गया और 500 रुपये देकर गर्भपात की दवा खरीद ली। डा. विवेकानंद ने 100 रुपये अपने पास रखकर दवा महिला को दे दी। इस दौरान महिला ने ईशारा कर दिया और स्वास्थ्य विभाग की टीम छापेमारी शुरू कर दी। टीम ने गर्भपात अपने कब्जे में ले ली और डा. विवेकानंद को गिरफ्तार कर लिया। वहीं, दूसरी ओर 20 फुट रोड स्थित आयुष क्लीनिक पर भी छापेमारी की। यहां से डा. योगेश और फार्मासस्टि विजय को गिरफ्तार किया है। यहां पर आरोपी डा. योगेश ने 500 रुपये में गर्भपात की दवा गर्भवती महिला को बेची थी। वरष्ठि चिकित्सा अधिकारी डा. हरजिंदर सिंह ने बताया कि तीनों के खिलाफ शिकायत दे दी गई है और दोनों क्लीनिक संचालकों से पैसे भी बरामद कर लिए गए हैं।



Next Story