Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Bharat Bandh : कल बंद रहेंगे सड़क और रेल मार्ग, संभलकर घर से निकलें

26 मार्च को घर से निकलने से पहले यह खबर पढ़ लें।

Bharat Bandh: कूषि कानूनों के विरोध में कल किसानों का
X

 कूषि कानूनों के विरोध में कल किसानों का 'भारत बंद

हरिभूमि न्यूज. सोनीपत

तीन कृषि कानूनों को निरस्त करवाने की मांग को लेकर करीब चार महीने से दिल्ली बॉर्डर पर बैठे किसान नेताओं ने 26 मार्च के पूर्ण भारत बंद की तैयारियों को अंतिम रूप दे दिया है। भारत बंद को देशभर में सफल बनाने के लिए किसानों ने गांव-गांव जाकर लोगों का समर्थन जुटाया है। भारत बंद पूरे देश में हो और शांतिपूर्ण तरीके से सफल हो, इसके लिए बैठकों का दौर भी जारी है। जिसमेें युवाओं को जिम्मेदारी सौंपी कई है। संयुक्त किसान मोर्चा के नेताओं ने भारत बंद को लेकर रणनीति बनाते हुए इसे योजनाबद्ध तरीके से आगे बढ़ाने और हर हाल में कामयाब करने की बात कही है। संगठनों ने जिला, ब्लॉक से लेकर गांव तक पहुंच बनाते हुए किसानों को आह्वान किया है कि 26 मार्च को सभी किसान व अन्य वर्ग के युवा अपने नजदीकी हाइवे व रेल लाइन पर पहुंच जाएं।

बाजार, सड़क व रेलमार्ग पर रहेगा फोकस

किसानों व सरकार के बीच 11 दौर की वार्ता विफल हो चुकी है। किसान सरकार पर लगातार किसी न किसी तरीके से दबाव बना रहे हैं। इसी कड़ी में किसानों ने 26 को भारत बंद का आह्वान किया है। भारत बंद को सफल बनाने में ट्रेड यूनियन, व्यापारी संगठन, आढ़ती और ट्रांसपोर्टर की और से कोई प्रस्ताव नहीं मिला है। किसान नेताओं का कहना है कि यह पहला बंद है, जो सुबह छह बजे से शाम छह तक रहेगा। जिसमें किसानों का पूरा फोकस बाजार, सड़क और रेलमार्ग को जाम करने पर रहेगा। इसको लेकर तैयारी जोर-शोर से की जा रही है।

गांवों तक पहुंच बना रहे हैं किसान नेता

26 के पूर्ण भारत बंद को देशभर में चलाने और इसकी सफलत को लेकर किसान नेता, ट्रेड यूनियनों के पदाधिकारी और संगठन के नेता गांव-गांव में जाकर पहुंच बना रहे हैं, ताकि भारत बंद में हर गांव से भागीदारी रहे। किसानों को तैयार किया जा रहा है कि उन्हें धरनास्थल या दूर तक जाने की बजाए अपने आसपास के रास्ते और रेलमार्ग जाम करने हैं। भारत बंद को लेकर सभी अपने स्तर पर तैयारियां कर रहे हैं। इसमें व्यापार मंडल, ट्रांसपोर्ट यूनियन, ट्रेड यूनियनें व संगठन तैयारियां तेज किए हुए हैं। भारत बंद में छात्र और कर्मचारी संगठन भी अहम भूमिका निभाने को तैयार हैं। इस बीच संयुक्त मोर्चा की ओर डा. दर्शनपाल, अभिमन्यु कोहाड़, गुरनाम सिंह चढूनी, शमशेर सिंह दहिया ने सयुंक्त किसान मोर्चा की ओर से देशवासियों से बंद में सहयोग देने की अपील की है।


Next Story