Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Haryana : बिजली उपभोक्ताओं को राहत, लॉकडाउन अवधि का कोई सरचार्ज नहीं लिया जाएगा

बिजली मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा अपनी ओर से कोरोना महामारी के दौरान लोगों को हर संभव सहायता पहुंचाने के लिए युद्घ स्तर पर कार्य किए जा रहे हैं। इस महामारी से दुनिया के बड़े-बड़े देश अछूते नहीं रहे हैं और उन्हें भी दिक्कतों का सामना करना पड़ा है। उन्होंने कहा कि पिछले 100 साल में ऐसी महामारी कभी नहीं देखी गई और यह महामारी हम सभी के लिए बहुत से सवाल छोड़कर जाएगी।

Haryana : बिजली उपभोक्ताओं को राहत, लॉकडाउन अवधि का कोई सरचार्ज  नहीं लिया जाएगा
X

बिजली मंत्री रणजीत सिंह

हरियाणा के बिजली मंत्री रणजीत सिंह ने कहा कि कोरोना काल के दौरान चार महीने की बिजली की सिक्योरिटी को 1 साल के लिए डेफर किया गया है और जब तक कोरोना काल है अर्थात लॉकडाउन अवधि तक बिजली का कोई सरचार्ज भी नहीं लिया जाएगा। बिजली मंत्री मंगलवार कोएक कार्यक्रम में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि आज हरियाणा में ज्यादातर गांवों में 24 घंटे बिजली दी जा रही है और मुख्यमंत्री द्वारा शुरू की गई "म्हारा गांव - जगमग गांव" योजना के तहत अब हरियाणा के लगभग 5300 गांव में बिजली दी जा रही है।

बिजली मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा अपनी ओर से कोरोना महामारी के दौरान लोगों को हर संभव सहायता पहुंचाने के लिए युद्घ स्तर पर कार्य किए जा रहे हैं। इस महामारी से दुनिया के बड़े-बड़े देश अछूते नहीं रहे हैं और उन्हें भी दिक्कतों का सामना करना पड़ा है। उन्होंने कहा कि पिछले 100 साल में ऐसी महामारी कभी नहीं देखी गई और यह महामारी हम सभी के लिए बहुत से सवाल छोडकऱ जाएगी।

उन्होंने कहा कि भारत का मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर काफी सुदृढ़ है जहां पर एम्स, मेदांता और पीजीआई जैसे बड़े-बड़े अस्पताल हैं। उन्होंने कहा कि अमेरिका व ब्राजील की जनसंख्या के मुकाबले हमारी जनसंख्या बहुत अधिक है लेकिन इसके बावजूद इन देशों के तुलना में यहां मृत्यु दर बहुत कम है। उन्होंने कहा कि इस महामारी की दूसरी लहर इतनी तेजी से आएगी इसका किसी को अंदाजा नहीं था।

रणजीत सिंह ने कहा कि इस महामारी से कोई भी अछूता नहीं रहा है। उन्होंने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर के दौरान हमें तीन दिनों तक जरूर दिक्कत आई लेकिन उसके पश्चात राज्य सरकार ने ऑक्सीजन प्लांट व ऑक्सीजन कंसंट्रेटर उपलब्ध करवाने का काम शुरू कर दिया और एक सप्ताह के भीतर स्थिति को संभाल लिया गया। अब ऑक्सीजन इत्यादि की कोई दिक्कत नहीं है। उन्होंने कहा कि उन्हें सिरसा और फतेहाबाद में महामारी से संबंधित व्यवस्थाओं की जिम्मेदारी दी गई है। उन्होंने बताया कि सिरसा और फतेहाबाद में गांवों के डॉक्टरों की एक बैठक बुलाकर उन्हें मरीजों की देखभाल के संबंध में जानकारी दी गई। उन्होंने बताया कि जहां पहले 1350 मरीज कोरोना के आया करते थे अब वह घटकर 137 मरीज रह गए हैं।

बिजली मंत्री ने कहा कि जहां तक बात ब्लैक फंगस की है यह वायरस से होने वाली बीमारी नहीं है यह बीमारी ज्यादातर शुगर मरीजों या स्टेरॉइड लेने वाले व्यक्तियों को हो रही है। उन्होंने कहा कि ब्लैक फंगस बीमारी से संबंधित इंजेक्शन को राज्य सरकार द्वारा इंपोर्ट करवा लिया गया है। राज्य सरकार द्वारा एक कमेटी गठित की गई है जिसके माध्यम से मरीजों को यह इंजेक्शन उपलब्ध करवाया जा रहा है।

और पढ़ें
Next Story