Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

गर्व की बात : घुड़सवारी वर्ल्ड कप में खेलेगा जींद का बेटा

गांव खरकबूरा में जन्मे हरिकेश 2008 में हरियाणा पुलिस में घुड़सवार नियुक्त हुए थे। अभी वे भौंडसी गुरुग्राम में एएसआइ के पद पर कार्यरत हैं

गर्व की बात : घुड़सवारी वर्ल्ड कप में खेलेगा जींद का बेटा
X

गांव खरकबूरा निवासी हरिकेश।

हरिभूमि न्यूज. जींद

गांव खरकबूरा का लाडला एवं हरियाणा पुलिस में एएसआइ के पद पर कार्यरत हरिकेश घुड़सवारी में वर्ल्ड कप खेलेगा। 18 मार्च को नोएडा यूपी में आयोजित प्रतियोगिता में भारतीय टेंट पेंगिंग टीम ने विश्वकप के लिए क्वालीफाइ किया है। 2023 में होने वाले टेंट पेंगिंग विश्व कप में हरिकेश भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व करेंगे।

हरिकेश ने इस उपलब्धि का श्रेय अपने पिता सतपाल, मां संतोष तथा प्रशिक्षकों को दिया है। उसकी पत्नी मंजू रानी ने भी सहयोग दिया। हरिकेश के पिता सतपाल शूगर मिल कर्मी है, जबकि मां संतोष गृहणी है। गांव खरकबूरा में जन्मे हरिकेश 12वीं तक शिक्षा प्राप्त करने के बाद वर्ष 2008 में हरियाणा पुलिस में घुड़सवार नियुक्त हुए थे। जिसे हरिकेश ने घुड़सवारी को शौक के साथ-साथ खेल के तौर पर अपनाया। लगातार अथक प्रयास तथा कड़ी मेहनत के बाद हरियाणा पुलिस में घुड़सवार के तौर पर टेंट पेंगिंग में अपना अहम स्थान बनाया। वर्ष 2009 में ऑल इंडिया पुलिस गेम्स में हरिकेश को सिल्वर मैडल मिला। जिसके बाद उसने पीछे मुड़कर नहीं देखा। भौंडसी गुरुग्राम में एएसआइ के पद पर कार्यरत हरिकेश ने बताया कि वर्ष 2009 से लेकर 2021 तक राष्ट्रीय एवं अंतराष्ट्रीय स्तर की काफी प्रतियोगिताओं में भाग लिया और गोल्ड मेडल समेत अन्य पदक भी जीते।

हॉल ही में 16 मार्च से 18 मार्च तक नोएडा के गौतमबुद्ध विश्वविद्यालय में टेंट पेंगिंग प्रतियोगिता का आयोजन किया गया था। जिसमे उन्होंने तीन गोल्ड, एक सिल्वर, एक ब्रांज मैडल जीता। साथ ही भारतीय टेंट पेंगिंग टीम ने विश्व कप के लिए क्वालीफाइ भी किया। जिसमे हरिकेश की टीम ने सात प्रतियोगिताओं में भाग लिया। जिसमें भारतीय टीम ने छह स्वर्ण, एक कांस्य पदक जीता। इस प्रतियोगिता में भारतीय टीम ने 515 अंकों के साथ पहला स्थान प्राप्त किया। प्रतियोगिता में अव्वल रहने पर अब भारतीय टीम विश्व कप खेलेगी। भारतीय टीम में हरिकेश के साथ दिनेश, जैना, मोहित तथा संदीप कुमार शामिल हैं। एएसआइ हरिकेश ने बताया कि उनका लक्ष्य वर्ष 2023 में विश्व कप में गोल्ड मैडल जीतकर देश की झोली में डालना है। जिसके लिए वे लगातार अपने साथी खिलाड़ियों के साथ पसीना बहा रहे हैं।


Next Story