Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दिल्ली में हो रही परीक्षा को जींद में हल करते तीन पकड़े, इनमें दो कैग के कर्मचारी

परीक्षा ऑनलाइन आयोजित की जा रही थी। जिसका लिंक लेकर लैपटॉप की सहायता से सॉल्व किया जा रहा था। छापा पड़ने की भनक मिलने पर पेपर हल कर रहे कुछ लोग भाग निकले। पुलिस ने मौके से पांच गाड़ियां, चार-पांच बाइक, वाईफाई सहित अन्य उपकरण को कब्जे में लिया है।

दिल्ली में हो रही परीक्षा को जींद में हल करते तीन पकड़े, इनमें दो कैग के कर्मचारी
X

 पुलिस गिरफ्त में पकड़े गए तीनों आरोपित।

हरिभूमि न्यूज. जींद

उचाना थाना पुलिस ने गांव काकडौद तथा नचार खेड़ा के बीच माइनर के साथ बने मुर्गी फार्म व मकान पर रविवार सुबह छापेमारी की। मुर्गी फार्म में दिल्ली में आयोजित डी ग्रुप परीक्षा के प्रश्न पत्र को हल किया जा रहा था। परीक्षा ऑनलाइन आयोजित की जा रही थी। जिसका लिंक लेकर लैपटॉप की सहायता से सॉल्व किया जा रहा था। छापा पड़ने की भनक मिलने पर पेपर हल कर रहे कुछ लोग भाग निकले। पुलिस ने मौके से पांच गाड़ियां, चार-पांच बाइक, वाईफाई सहित अन्य उपकरण को कब्जे में लिया है।

उचाना थाना पुलिस ने मकान मालिक समेत दो लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी, आईटी एक्ट समेत विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है। पुलिस ने इस मामले में गांव काकड़ोद निवासी मनजीत, गांव दनौदा कलां निवासी सुरेंद्र, गांव दनौदा खुर्द निवासी हरदीप को गिरफ्तार किया है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है। उचाना थाना पुलिस को सूचना मिली थी कि गांव काकड़ोद व नचारखेड़ा के बीच से गुजरने वाली माइनर के साथ मुर्गी फार्म व उसमे बने मकान पर दिल्ली कोर्ट के लिए आयोजित डी ग्रुप की भर्ती को लेकर परीक्षा का आयोजन रविवार को दो शिफ्टों में किया जा रहा है। पहली शिफ्ट की परीक्षा साढ़े 10 बजे शुरू हो चुकी है जबकि दूसरी शिफ्ट दोपहर बाद शुरू होगी। कुछ लोग उपकरणों के साथ मुर्गी फार्म में प्रश्न पत्रों को सॉल्व कर रहे हैं। सूचना के आधार पर उचाना थाना प्रभारी रविंद्र कुमार के नेतृत्व में पुलिस ने छापेमारी की। भनक लगने पर पोल्ट्री फार्म में जमा कुछ लोग लैपटॉप व अन्य सामान के साथ पैदल खेतों के रास्ते भाग निकलने में कामयाब हो गए। पुलिस ने मुर्गी फार्म के बाहर खड़ी अलग-अलग जिलों की पांच गाड़ियां व पांच बाइकों को कब्जे में ले लिया। तीन गाड़ियां चॉबी न मिलने के कारण मौके पर ही खड़ी रही, जबकि अन्य गाड़ियां व बाइकों को पुलिस अपने साथ ले आई। पुलिस ने मौके से वाईफाई सहित अन्य उपकरण मुर्गी फार्म से मिले हैं। बताया जाता है कि पेपर लीक मामले में गांव काकड़ौद निवासी अशोक सरगना बताया गया है। उचाना थाना पुलिस ने उचाना थाना प्रभारी रविंद्र की शिकायत पर मकान व मुर्गी फार्म मालिक कृष्ण तथा अशोक के खिलाफ धोखाधड़ी, आईटी एक्ट समेत विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है। पुलिस ने इस मामले में गांव काकड़ोद निवासी मनजीत, गांव दनौदा कलां निवासी सुरेंद्र, गांव दनौदा खुर्द निवासी हरदीप को गिरफ्तार किया है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।

सुरेंद्र तथा हरदीप पंजाब कंप्ट्रोलर एंड ऑडिटर जनरल ऑफ इंडिया (कैग) में कर्मचारी

गांव दनौदा कलां निवासी सुरेंद्र पंजाब कैग में निरीक्षक के पद पर कार्यरत है। जबकि हरदीप पंजाब कैग में ऑडिटर के पद पर कार्यरत है। जबकि फरार हुआ मुख्य सरगना गांव काकड़ोद निवासी अशोक खुद को पुलिस कर्मी बताता है ओर उसने पुलिस का फर्जी आईकार्ड भी बनवाया हुआ है। फिलहाल पुलिस पकड़े गए तीनों आरोपितों से पूछताछ कर रही है।

डीएसपी जितेंद्र ने बताया कि सूचना के आधार पर मुर्गी फार्म व मकान पर परीक्षा के प्रश्न पत्र को साल्व करने को लेकर छापेमारी की गई है। कुछ लोग वहां से भाग निकलने में कामयाब हो गए। जबकि तीन लोगों को काबू कर लिया गया। मकान मालिक व एक अन्य व्यक्ति के खिलाफ धोखाधड़ी, आईटी एक्ट समेत विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। पकड़े गए लोगों से पूछताछ की जा रही है। मौके से कुछ गाड़ियाें, बाइकों को भी कब्जे में लिया गया है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।


Next Story