Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पांच लाख की रिश्वत मांगने के आरोपी अंबाला के नायब तहसीलदार की मुश्किलें बढ़ीं

पूर्व कांग्रेसी पार्षद ने म्यूटेशन की एवज में पांच लाख रुपये की घूस मांगने का लगाया था आरोप, अदालत ने खारिज की अग्रिम जमानत याचिका, गिरफ्तारी पर रोक लगाने से इंकार।

कार्रवाई-
X

 रिश्वत मामला

हरिभूमि न्यूज.अंबाला

म्यूटेशन की एवज में पांच लाख रुपये की घूम मांगने वाले अंबाला कैंट तहसील के नायब तहसीलदार बोधराज सिंह की मुश्किलें बढ़ गई हैं। अदालत ने आरोपी की गिरफ्तारी पर रोक लगाने से इंकार कर दिया है। उसकी अग्रिम जमानत याचिका को खारिज कर दिया गया है। याचिका खारिज होने के बाद अब उस पर गिरफ्तारी का दबाव बढ़ गया है। कांग्रेस के पूर्व पार्षद ओंकारनाथी ने नायब तहसीलदार बोधराज पर एक म्यूटेशन की एवज में पांच लाख रुपये की घूस मांगने का आरोप लगाया था।

नाथी ने गृहमंत्री अनिल विज को शिकायत देकर उसके खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी। विज के आदेश पर अंबाला कैंट पुलिस ने नायब तहसीलदार के खिलाफ भ्रष्टाचार के तहत केस दर्ज किया था। गिरफ्तारी के डर से बोधराज ने अदालत में अग्रिम जमानत याचिका दायर की थी। सुनवाई के दौरान उसकी ओर से मामले की पैरवी कर रहे वकील ने बोधराज पर लगे तमाम आरोपों को सिरे से नकार दिया था। उसका आरोप था कि बोधराज को साजिश के तहत झूठे केस में फंसाया गया है। हालांकि अदालत ने पुलिस के तर्कों पर सहमति जताते हुए आरोपी की गिरफ्तारी पर रोक लगाने से साफ इंकार कर दिया। आरोपी के पास अब पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट में फैसले को चुनौती देने का रास्ता बचा है। अब पुलिस ने भी उस पर गिरफ्तारी का दबाव बढ़ा दिया है।

Next Story