Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Delhi Winter: राजधानी में पिछले 10 सालों में सबसे ठंडा रहा नवंबर का महीना, एक बार फिर प्रदूषण बढ़ने की आशंका

Delhi Winter: पिछले दस वर्षों में इस वर्ष नवंबर में सबसे ज्यादा ठंड पड़ी है और इस वर्ष नवंबर के महीने में औसत न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहा है। दिल्ली में वैसे नवंबर महीने का औसत न्यूनतम तापमान 12.9 डिग्री सेल्सियस होता है।

Delhi Winter: राजधानी में पिछले 10 सालों में सबसे ठंडा रहा नंवबर का महीना, एक बार फिर प्रदूषण बढ़ने की आशंका
X

राजधानी में पिछले 10 सालों में सबसे ठंडा रहा नंवबर का महीना, एक बार फिर प्रदूषण बढ़ने की आशंका

(Delhi Winter) राजधानी दिल्ली में सर्दी हर महीने अपना रिकॉर्ड तोड़ रही है। दिल्ली समेत पूरा उत्तर भारत में ठंड का कहर जारी है। दिल्ली में सर्दी से प्रदूषण की भी बढ़ने की आशंका बनी हुई है। क्योंकि दिल्ली में हवा की गति एक बार फिर कम हो गई है। जिसके कारण दिल्ली के लोग ठंड और प्रदूषण दोनों की मार झेलने को मजबूर हो रहे है। पिछले दस वर्षों में इस वर्ष नवंबर में सबसे ज्यादा ठंड पड़ी है और इस वर्ष नवंबर के महीने में औसत न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहा है।

दिल्ली में वैसे नवंबर महीने का औसत न्यूनतम तापमान 12.9 डिग्री सेल्सियस होता है। भारत मौसम विज्ञान विभाग के आंकड़ों के अनुसार एक नवंबर से 29 नवंबर तक शहर में औसत न्यूनतम तापमान 10.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है, जो करीब एक दशक में सबसे कम तापमान है। पिछले वर्ष औसत न्यूनतम तापमान 15 डिग्री सेल्सियस, वर्ष 2018 में 13.4 डिग्री सेल्सियस और वर्ष 2017 तथा 2016 में यह 12.8 डिग्री सेल्सियस रहा।

रविवार को दिल्ली का न्यूनतम तापमान सात डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। इस माह यह सातवां दिन है जब न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस से नीचे रहा। मौसम विभाग के अनुसार सोमवार को भी न्यूनतम तापमान सात डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने की संभावना है। गौरतलब है कि 23 नवंबर को राष्ट्रीय राजधानी में न्यूनतम तापमान 6.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो नवंबर 2003 के बाद से अब तक का सबसे कम तापमान है जब न्यूनतम तापमान 6.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था।

वहीं हवा की रफ्तार कम होने से दिल्ली की हवा में प्रदूषण का स्तर एक बार फिर से बढ़ने लगा है। प्रदूषक कणों की मात्रा बढ़ने से वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) में बीते दिन के भीतर ही 94 अंकों की बढ़ोतरी हुई है। सफर का अनुमान है कि अगले दो दिनों के बीच दिल्ली की हवा खराब से बेहद खराब श्रेणी में बनी रहेगी।

Next Story