Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

निलंबित जेल प्रहरी पर अब रेप केस, किसी को बताने पर दी थी जान से मारने की धमकी

एसीबी की टीम ने दस हज़ार लेते हुए रंगे हाथों किया था गिरफ्तार। पढ़िए पूरी खबर-

निलंबित जेल प्रहरी पर अब रेप केस, किसी को बताने पर दी थी जान से मारने की धमकी
X

कोरबा। रिश्वत लेने के मामले में निलंबित चल रहे हैं, उप जेल कटघोरा के जेल प्रहरी धीरेंद्र परिहार पर एक युवती के साथ दुष्कर्म का मामला भी पुलिस ने दर्ज किया है। पिछले साल दिसंबर में जेल प्रहरी ने एक कैदी के परिजन से दस हज़ार की रिश्वत मांगी थी, तब उसे एसीबी की टीम ने दस हज़ार लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया था। फिलहाल वह जमानत पर बाहर हैं।

हालिया मामले में युवती ने अपनी शिकायत में कहा है कि- धीरेंद्र सिंह परिहार अक्सर जब वह घर पर अकेली रहा करती थी तो बुरी नियत से उसके घर घुस जाया करता था। एक दिन आरोपित ने सारी हदें पार कर दी और उसके साथ दुष्कर्म किया। घटना की जानकारी किसी को देने पर जान से मारने की भी धमकी दी। कटघोरा पुलिस ने युवती की रिपोर्ट पर अपराध पंजीबद्ध कर भादवि की धारा 376 और 450 के तहत अपराध कायम कर लिया है।

बता दें कोरबा जिले के कटघोरा उप जेल में पदस्थ प्रहरी धीरेंद्र सिंह परिहार को 10 हजार रूपए रिश्वत लेते गिरफ्तार किया गया था। इस मामले में कोरबा जिले के हुंकरा गांव की निवासी रोहनी बाई रजक ने एसीबी में शिकायत की थी कि उसका पति शंकरलाल रजक जेल में बंद है। आरोपी परिहार ने रोहनी बाई के पति शंकरलाल से जेल में मारपीट नहीं करने तथा खान पान और अन्य सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए 50 हजार रूपए रिश्वत की मांग की थी। उन्होंने बताया कि जब रोहनी बाई ने परिहार से निवेदन किया तब परिहार ने 10 हजार रूपए पहले दे देने और बाद में जमीन बेचकर दो लाख रूपए और देने के लिए कहा था।

Next Story