Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोरोना वैक्सीन सर्वेयर बनकर लूटने वाले निकले मंगेतर, गिरफ्तार

सरोना स्थित अपार्टमेंट में घुसकर महिला व उसके बेटे को बंधक बनाकर लाखों रुपए के जेवरात लूटने वाले बंटी-बबली को डीडीनगर पुलिस ने गिरफ्तार किया है। दोनाें आरोपी कोरोना वैक्सीन सर्वेयर बनकर फ्लैट में घुसे थे और लूटकर फरार हो गए थे।

कोरोना वैक्सीन सर्वेयर बनकर लूटने वाले निकले मंगेतर, गिरफ्तार
X
गिरफ्तार (प्रतीकात्मक फोटो)

सरोना स्थित अपार्टमेंट में घुसकर महिला व उसके बेटे को बंधक बनाकर लाखों रुपए के जेवरात लूटने वाले बंटी-बबली को डीडीनगर पुलिस ने गिरफ्तार किया है। दोनाें आरोपी कोरोना वैक्सीन सर्वेयर बनकर फ्लैट में घुसे थे और लूटकर फरार हो गए थे। पीड़ित महिला के पति संजीव कुमार द्वारा पैसे वापस नहीं करने पर महिला सीए ने अपने मंगेतर के साथ मिलकर लूट की थी।

दोनों स्कूटी पर फर्जी नंबर प्लेट लगाक अपार्टमेंट पहुंचे थे। एएसपी लखन पटले ने बताया कि आरोपी आयशा अघाड़ी निवासी राॅयल पार्क एकता मार्ग रत्नागिरी पुलिस थाना शहर महाराष्ट्र और इरशाद निवासी नाेएडा सेक्टर-104 नोएडा उत्तरप्रदेश को गिरफ्तार किया गया है। आरोपी आयशा सीए है और इरशाद से उसकी मंगनी हो चुकी है। उनके पास से लूटे हुए सोने के जेवरात, मोबाइल और आई पेड बरामद किया गया है जिसकी कीमत करीब एक लाख रुपए है।

यह था मामला

पुलिस के मुताबिक 2 जुलाई की शाम दो अज्ञात युवक-युवती पहुंचे और कोरोना वैक्सीन सर्वेयर बताकर उनसे बात की थी। उनके द्वारा टीका लगा लेने की बात कहने पर युवती पानी पीने का हवाला देकर भीतर घुसी थी। इसके बाद दोनों युवक-युवती ने धरम शीला व उनके बेटे तनिष्क को बंधक बनाकर सोने-चांदी के जेवरात, एक मोबाइल और एक आई पेड लूट लिया था। पुलिस ने अज्ञात आरोपी के खिलाफ केस दर्ज किया था।

पैसे नहीं मिलने पर की थी लूट

पुलिस के मुताबिक आरोपी आयशा और इरशाद ऑनलाइन शेयर बाजार टेड्रिंग में इनवेस्ट करते हैं। इस दौरान आयशा का संजीव कुमार से संपर्क हुआ। दोनों ऑनलाइन शेयर बाजार टेड्रिंग में लेन-देन करते थे। संजीव कुमार ने अधिक रकम देने का हवाला देकर आयशा से शेयर बाजार टेड्रिंग में लाखों रुपए इनवेस्ट कराया था। इसमें संजीव कुमार को नुकसान हो गया।

इसके बाद आयशा ने संजीव कुमार से अपने पैसे वापस मांगे लेकिन वह पैसे वापस नहीं कर रहा था। इससे परेशान होकर आयशा ने लूट करने का प्लान बनाया और मंगेतर इरशाद के साथ एक जुलाई को पंडरी स्थित एक लाॅज में कमरा लेकर रुकी थी। आयशा ने तेलीबांधा से किराए पर स्कूटी लिया। उस पर फर्जी कोरोना रिलीव डॉ. शाम लिखकर चिपकाया और लूट कर फरार हाे गई थी।



Next Story