Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

वैक्सीन बगैर खाली हाथ आए वैक्सीनेटर, 2 घंटे दवा का इंतजार

कोरोना महामारी को समूल खत्म करने के लिए चलाए जा रहे टीकाकरण अभियान को लेकर स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी संजीदा नहीं हैं। बिना वैक्सीन लिए दर्जनभर से ज्यादा चिकित्सकीय स्टाफ डिग्री गर्ल्स कालेज के टीकाकरण केंद्र में खाली हाथ पहुंच गया। लोगों को टीकाकरण करने की बारी आई तो पता चला वैक्सीन लेकर नहीं आए।

वैक्सीन बगैर खाली हाथ आए वैक्सीनेटर, 2 घंटे दवा का इंतजार
X

टीकाकरण केंद्र (प्रतीकात्मक फोटो)

कोरोना महामारी को समूल खत्म करने के लिए चलाए जा रहे टीकाकरण अभियान को लेकर स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी संजीदा नहीं हैं। बिना वैक्सीन लिए दर्जनभर से ज्यादा चिकित्सकीय स्टाफ डिग्री गर्ल्स कालेज के टीकाकरण केंद्र में खाली हाथ पहुंच गया। लोगों को टीकाकरण करने की बारी आई तो पता चला वैक्सीन लेकर नहीं आए। पूरे 2 घंटे इंतजार करने के बाद इस सेंटर में वैक्सीन पहुंची तब जाकर लोगों ने चैन की सांस ली।

45 प्लस आयु समूह वालों के लिए कोरोना वैक्सीन की पहली डोज देने जोन 4 के डिग्री कालेज कैंपस में टीकाकरण शिविर लगाया गया है। सोमवार को यहां अजब नजारा देखने को मिला। टीकाकरण कराने पहुंचे लोग उस समय भौंचक रह गए जब सुबह 10 बजे उन्हें पता चला कि स्वास्थ्य विभाग ने जिन दर्जनभर स्टाफ की डयूटी वैक्सीनेशन के लिए लगाई है वे बिना वैक्सीन के खाली हाथ सेंटर में पहुंच गए। जब टीकाकरण शुरू नहीं हुआ तो वहां मौजूद लोगों ने इस पर आपत्ति जताई। निगम के अधिकारियों ने जब इसकी वजह पता की, तो बताया गया वैक्सीन की खुराक ही नहीं पहुंची। बाद में फोन कर वैक्सीन मंगाई गई। इस चक्कर में लोगों को 2 घंटे इंतजार करना पड़ा।

सरस्वती स्कूल का सेंटर बिना बताए बंद

पुरानीबस्ती के सरस्वती स्कूल टीकाकरण केंद्र में 18 प्लस टीकाकरण केंद्र लोगों को बिना सूचना दिए दो दिन से बंद है। सोमवार को भी 18 वर्ष से 44 आयु समूह के लोगों को यहां टीका उपलब्ध नहीं हुआ। ना ही इसकी सूचना संबंधित जोन को दी गई। जोन 4 क्षेत्र के अधिकारियों का कहना है इससे उन्हें काफी परेशानी उठानी पड़ी। सोमवार को भी यही स्थिति बनी रही और लोग टीकाकरण के लिए भटकते रहे।

शहर में सिर्फ 4 सेंटरों में हुआ वैक्सीनेशन

राजधानी में 18 प्लस के हितग्राहियों को कोरोना महामारी से बचाने सोमवार को सिर्फ 4 सेंटरों में ही वैक्सीन लगाने की सुविधा मिल पाई। इनमें विज्ञान महाविद्यालय कैंपस स्थित पंडित दीनदयाल उपाध्याय आडिटोरियम, दानी स्कूल, बीटीआई कालेज शंकर नगर और मोवा स्कूल।

Next Story