Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

NIT पटना से पढ़ाई कर विदेश गए दंपत्ति ने बिहार और झारखंड को दान दिए एक करोड़ रुपये, यहां काम के लिए होगा धन का इस्तेमाल

पटना एनआईटी से पढ़ाई करने के बाद टेक्सास में अपना सफल कारोबार संभाल रहे दंपत्ति ने बिहार और झारखंड को दान में एक करोड़ रुपये दिए हैं। इस धन का इस्तेमाल दोनों राज्यों की स्वास्थ्यसेवाओं में सुधार लाने के लिए किया जाएगा।

NIT Patna former student donate one crore rupees to bihar jharkhand health care functions
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

पटना एनआईटी (Patna NIT) से पढ़ाई करने के बाद टेक्सास (Texas) में सफलतापूर्वक अपना कारोबार संभाल रहे दंपत्ति ने बिहार (Bihar) और झारखंड (Jharkhand) राज्यों के लिए बड़ी दरियादिली दिखाई है। टेक्सास में सफलता के झंडे गाड़ रहे अविनाश गुप्ता और उनकी पत्‍नी ने झारखंड और बिहार राज्य के लिए एक करोड़ रुपये दान में दिए हैं। जानकारी के अनुसार भारतीय-अमेरिकी दम्पत्ति ने बिहार और झारखंड दोनों राज्यों में स्वास्थ्यसेवा के कार्यों (Health care functions) में इस्तेमाल कराए जाने के लिए यह धन दान दिया है।

जानकारी के अनुसार, बिहार-झारखंड एसोसिएशन ऑफ नॉर्थ अमेरिका 'बीजेएएनए' ने सोमवार को इस बात का ऐलान किया। रमेश और कल्पना भाटिया फैमिली फाउंडेशन की ओर से बीजेएएनए को दान में दिए गए इन 1,50,000 डॉलर का इस्तेमाल प्रान-बीजेएएनए पहल के माध्यम से बिहार और झारखंड दोनों राज्यों में ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर करने के लिए किया जाएगा।

प्रवासी एलुमनी नि:शुल्क भारतीय-अमेरिकी चिकित्सकों की तरफ से यह पहल की गई है। जो झारखंड और बिहार राज्यों में वंचित, कमजोर एवं दबे-कुचले तबके के लोगों के लिए स्वास्थ्यसेवा मुहैया कराने के लिए कार्य कर रहे हैं। इन चिकित्सकों द्वारा झारखंड की राजधानी रांची में प्रान क्लीनिक भी खोला गया है। जहां पर ये चिकित्सक जरूरतमंदों को फ्री में स्वास्थ्य सेवाएं दे रहे हैं।

बिहार-झारखंड एसोसिएशन ऑफ नॉर्थ अमेरिका के अध्यक्ष अविनाश गुप्ता ने बिहार और झारखंड के लिए उदारता से दान करने के लिए रमेश और कल्पना भाटिया को दिल से धन्यवाद दिया। पूर्व एफआईए अध्यक्ष आलोक कुमार का ये कहना है कि ऐसे दान मिलने से बीजेएएनए को स्वास्थ्य सेवा के क्षेत्र में कार्य करने में काफी अहम सहयोग मिलेगा।

Next Story