Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पूर्व सीएम डॉ रमन सिंह और बेटे अभिषेक सिंह के खिलाफ ईओडब्ल्यू में शिकायत

आर्थिक अन्वेषण ब्यूरो के दफ्तर पहुंचे कांग्रेस नेता विनोद तिवारी ने पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह और उनके बेटे अभिषेक सिंह पर गंभीर आरोप लगाते हुए जांच और कार्रवाई की मांग की है। कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया है कि पूर्व सीएम और उनके बेटे ने सरकारी योजनाओं में करोड़ों रुपए का भ्रष्टाचार करते हुए जमकर काली कमाई की है।

पूर्व सीएम डॉ रमन सिंह और बेटे अभिषेक सिंह के खिलाफ ईओडब्ल्यू में शिकायत
X

रायपुर. आर्थिक अन्वेषण ब्यूरो के दफ्तर पहुंचे कांग्रेस नेता विनोद तिवारी ने पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह और उनके बेटे अभिषेक सिंह पर गंभीर आरोप लगाते हुए जांच और कार्रवाई की मांग की है। कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया है कि पूर्व सीएम और उनके बेटे ने सरकारी योजनाओं में करोड़ों रुपए का भ्रष्टाचार करते हुए जमकर काली कमाई की है। राज्य चुनाव आयोग को अपनी संपत्ति के बारे में गलत जानकारी देकर उन्हें गुमराह किया। इधर पूर्व सीएम ने कांग्रेस नेता की इस शिकायत पर कहा है, जो दस्तावेज दे रहे, वे बेबुनियाद हैं। इसमें कोई सच्चाई नहीं है।

दर्ज कराई गई शिकायत में कांग्रेसी नेता विनोद तिवारी ने बताया कि पूर्व सीएम द्वारा अपने कार्यकाल में अकूत संपत्ति अर्जित की गई। अनुपातहीन, आय से अधिक संपत्ति की विभिन्न निर्वाचन के दौरान चुनाव आयोग को झूठी जानकारी दी गई। पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह द्वारा अपने निर्वाचन हेतु अभ्यर्थी के आवेदन, शपथपत्र में जो विवरण दिया गया है, असल में वह सही नहीं है। 2008 में पूर्व सीएम सिंह ने राजनांदगांव में पर्चा भरा था। स्वयं के द्वारा धारित संपत्ति के रूप में नकद 7 लाख रुपए एवं जमा राशि 6.03 लाख रुपए तथा फिक्स डिपॉजिट के रूप में 4 लाख रुपए होने का शपथपत्र दिया। इस प्रकार 23 तोला साेना और 4 किलो चांदी और दूसरे मद में लगभग 2.35 लाख रुपए होने के बारे में बताया, लेकिन यह बिल्कुल सही नहीं है। श्री तिवारी ने शिकायत में कहा है कि 2003 से 2018 तक सत्ता में रहते हुए पूर्व मुख्यमंत्री और उनके परिवार की आय कई गुना बढ़ गई। इसकी जांच होनी चाहिए कि यह संपत्ति का स्रोत क्या है।

कांग्रेस नेता के ये गंभीर आरोप

- 2013 के चुनाव के बाद पूर्व सीएम की संपत्ति में पांच गुना तक की बढ़ोतरी हुई। सत्ता में रहते हुए जमकर भ्रष्टाचार किया गया।

- 2018 में पूर्व सीएम के पास मौजूदा हिसाब में उनके पास मौजूदा संपत्ति की गणना 1 करोड़ रुपए के पार हो गई। आय का स्त्रोत कहीं नहीं दर्शाया, फिर भी संपत्ति में इजाफा हो रहा।

- ठाठापुर में पैतृक मकान से लगे हिस्से में अतिक्रमण करके निर्माण किया गया। मौलश्री विहार में महलनुमा मकान सरकारी खजाने के ऊपर की कमाई से बनाया गया।

Next Story