Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

छत्तीसगढ़ से 'जवाद' का खतरा टला: मौसम विज्ञान केंद्र ने कही ये बात...

बंगाल की खाड़ी से उठा चक्रवात तूफान कमजोर होता जा रहा है। यह अब पुरी के पास गहरे अवदाब के रूप में प्रवेश करेगा। वही मौसम विज्ञान केंद्र(Meteorological center) के विज्ञानी ने कही ये बात...

छत्तीसगढ़ से जवाद का खतरा टला: मौसम विज्ञान केंद्र ने कही ये बात...
X

रायपुर। छत्तीसगढ़ में 'जवाद' चक्रवात(Jawad Cyclone) नाम का खतरा टलता दिखाई दे रहा है। मौसम विभाग के सूचना के मुताबिक बताया है, बंगाल(Bangal) की खाड़ी से उठा चक्रवात तूफान कमजोर होता जा रहा है। यह अब पुरी के पास गहरे अवदाब के रूप में प्रवेश करेगा। उसके बाद कमजोर होते हुए पश्चिम बंगाल की ओर चला जाएगा। प्रदेश से दूर होने की वजह से इस तंत्र का असर प्रदेश के मौसम पर होने की संभावना लगभग कम हो गई है।

रायपुर के मौसम विज्ञान केंद्र(Meteorological center) के विज्ञानी एचपी चंद्रा ने बताया, जवाद चक्रवाती तूफान पश्चिम-मध्य बंगाल की खाड़ी में 16.4 डिग्री उत्तर और 84.8 डिग्री पूर्व में स्थित है। यह तूफान, 5 दिसंबर की दोपहर को उत्तर- उत्तर पूर्व दिशा में ओडिशा तट की ओर लगभग "पुरी' के पास एक गहरे अवदाब के रुप में पहुंचेगा। इसके बाद यह लगातार कमजोर होता जाएगा। संभावना जताई जा रही है, यह लगातार कमजोर होते हुए उत्तर- उत्तर पूर्व की ओर ओडिशा तट से पश्चिम बंगाल तट की ओर आगे बढ़ेगा। मौसम विज्ञानी एचपी चंद्रा ने बताया, इस तंत्र के छत्तीसगढ़ से दूर हो जाने के कारण इसका असर 5 दिसंबर के मौसम पर नहीं रहेगा। छत्तीसगढ़ में 5 दिसंबर का मौसम शुष्क (ड्राई) रहने की संभावना नहीं है। तापमान में भी कोई विशेष परिवर्तन नहीं होगा। लेकिन 6 दिसंबर से प्रदेश के न्यूनतम तापमान मे गिरावट की संभावना बन रही है।

सामान्य से अधिक है न्यूनतम तापमान

प्रदेश में उत्तर से दक्षिण तक न्यूनतम तापमान अभी 12 डिग्री से 16 डिग्री सेल्सियस के बीच बना हुआ है। शनिवार को अम्बिकापुर का न्यूनतम तापमान 12 डिग्री सेल्सियस मापा गया। यह सामान्य से 3 डिग्री सेल्सियस अधिक है। बिलासपुर में न्यूनतम तापमान 15.6 रहा। यह सामान्य से 2 डिग्री अधिक है। जगदलपुर में न्यूनतम तापमान 16.2 डिग्री था जो सामान्य से 4 डिग्री अधिक है। रायपुर में भी सामान्य से 2 डिग्री अधिक तापमान रिकॉर्ड हुआ है।

Next Story