Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

रेलवे स्टेशन के पार्किंग में खड़ी कार में लाश मिलने से फैली सनसनी, मौत की गुत्थी सुलझाने में जुटी पुलिस

एक युवक का कार में मिली लाश की गुत्थी रायपुर रेलवे पुलिस सुलझाने में जुटी है, युवक की लाश की अवस्था को देखकर हार्टअटैक का अनुमान लगाया जा रहा है, पढ़िए पूरी खबर...

रेलवे स्टेशन के पार्किंग में खड़ी कार में लाश मिलने से फैली सनसनी, मौत की गुत्थी सुलझाने में जुटी पुलिस
X

रायपुर। बीते रविवार को रायपुर रेलवे स्टेशन में 28 वर्षीय युवक की लाश एक कार में मिली है, युवक का नाम संतोष कंवर कोरबा निवासी बताया जा रहा है। दरअसल पुलिस को उसके दोस्त के जरिये सूचना मिली थी कि कार में उसका दोस्त मृत अवस्था में मिला है। युवक की मौत कैसे हुई यह पुलिस के लिए अभी तक पहेली बनी हुई है। स्टेशन कैंपस के अंदर खड़ी कार के भीतर लाश मिलने की खबर पाकर आसपास के लोग यहां जमा हो गए। भीड़ को किसी तरह हटाकर रेलवे पुलिस ने कार की जांच की। लाश का रिपोर्ट तैयार करने के बाद इसे पोस्टमार्टम के लिए अंबेडकर अस्पताल भेजा गया है।


पुलिस की जांच-पड़ताल में पता चला है कि मृतक का नाम संतोष कंवर उम्र 28 वर्ष था। संतोष मूलत: कोरबा का रहने वाला था जोकि रायपुर के कबीर नगर में अपने कुछ साथियों के साथ किराये के मकान में रहता था। वह नया रायपुर मंत्रालय के स्थित पंचायत विभाग में स्टेनो का काम करता था। लाश संतोष के ही निजी कार में मिली है। वही पुलिस ने जांच में पाया कि शव पर किसी तरह के चोट के निशान नहीं मिले हैं। कार के अंदर लाश ऐसी स्थिति में मिली मानों संतोष की मौत नींद में ही हुई हो। उसका एक पैर दूसरे पैर पर रखा हुआ है, पीठ सीट पर टिकी है, जैसे आराम करते-करते उस हार्टअटैक आ गया हो और उसकी मौत हो गई। पुलिस को शक है कि संतोष की मौत हार्टअटैक से हुई है।

दोस्तों के साथ बिलासपुर घुमने गया था संतोष, रात को पी थी शराब

पुलिस ने जांच में बताया कि संतोष ने मंत्रालय में ही काम करने वाले अपने साथियों के साथ घूमने बिलासपुर के लिए निकला था। वो सुबह लगभग साधे चार बजे रायपुर पहुंचा। कार में मौजूद दो साथियों को पंडरी बस स्टैंड और एक युवक को घासीराम नगर छोड़ा। उसके बाद दुर्ग रहने वाले एक दोस्त को लेकर संतोष रेलवे स्टेशन पंहुचा, जहा दूसरा युवक दुर्ग चला गया।

दुर्ग वाले दोस्त ने बताया कि संतोष ने कहा था कि अभी थोडा थका हूं, कुछ देर आराम करने के बाद वो अपने रूम कबीर नगर के लिए निकल जाएगा। दोपहर बीत जाने के बाद भी जब संतोष का कमरे पर नहीं लौटना पता चला तो उसके साथियों ने बिलासपुर गए मनीष से संपर्क किया। मनीष को भी पता था कि संतोष ने स्टेशन में ही रुकने की बात कही थी। मनीष ने स्टेशन आकर जब संतोष को खोजा तो संतोष का शव कार के अंदर मिला। पुलिस को मनीष ने जानकारी दी कि बीती रात सभी दोस्तों ने शराब पिया था। लेकिन अब दोस्त की मौत से सभी साथी डरे हुए हैं।

और पढ़ें
Next Story