Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सीएम बोले- लोहार समाज के लिए बोर्ड बनेगा…बीजेपी गोडसे और सावरकर के बारे में बात करे तो ज्यादा अच्छा…

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज विश्वकर्मा जयंती के मौके पर बालोद जिले के एक कार्यक्रम में शामिल हुए। कार्यक्रम के लिए रवानगी से पहले मीडिया से बातचीत करते हुए मुख्यमंत्री ने कई अहम बातें की है। उन्होंने एनसीआरबी की रिपोर्ट से लेकर सोनू सूद के घर छापे तक, कोदो- कुटकी से लेकर शिक्षा में नवाचार तक कई बिंदुओं पर अपनी बातें रखी हैं। पढ़िए पूरी खबर-

सीएम बोले- लोहार समाज के लिए बोर्ड बनेगा…बीजेपी गोडसे और सावरकर के बारे में बात करे तो ज्यादा अच्छा…
X

रायपुर/बालोद। बालोद के जुंगेरा रवाना होने से पहले सीएम भूपेश बघेल ने यहां मीडिया से चर्चा की। उन्होंने हायर सेकंडरी स्कूलों में व्यावसायिक पाठ्यक्रम प्रारंभ किए जाने पर कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में नवाचार किया गया है। रोज़गारोन्मुखी शिक्षा की दिशा में यह पहल की गई है।

फिल्मी कलाकारों के यहां छापा, तो यहां क्यों नहीं : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने गांजे के उत्पादन और अवैध तस्करी पर कहा कि जिन प्रदेशों में उत्पादन हो रहा है, वहां सेंट्रल एजेंसी को जाकर जांच और कार्रवाई करनी चाहिए। 10 ग्राम गांजे के लिए मुंबई में कलाकारों के घर छापा मारा जा रहा था, लेकिन जहाँ खुलेआम तस्करी हो रही है, वहां भी तो जांच की जानी चाहिए।

पिछली सरकार ने जुर्म कायम नहीं किया : NCRB के आंकड़ों पर सीएम भुपेश बघेल का बयान है कि तथाकथित राजनीतिज्ञों ने आधी अधूरी व्याख्या कर छत्तीसगढ़ को बदनाम करने की कोशिश की है। छत्तीसगढ़ जैसे शांत प्रदेश को राजनीतिक स्वार्थ के लिए बदनाम करना एक छत्तीसगढ़िया के रूप में मैं सही नहीं मानता। सरकार पर उंगली उठाने वाले बड़े उत्साह से 2020 के आंकड़े जारी कर दुष्प्रचार कर रहे हैं। एक बार पहले का भी आकड़ा उठाकर देख लें। उन्होंने कहा कि क्राइम के मामले में छत्तीसगढ़ से बिहार, उत्त्तर प्रदेश और अन्य भाजपा शासित राज्य आगे हैं। पिछली सरकार में आंकड़ों को चमकाने अपराध ही पंजीबद्ध नहीं किये जाते थे, लेकिन हम छत्तीसगढ़ को शांति का टापू बनाने की दिशा में काम कर रहे हैं।

इसलिए पड़ा सोनू सूद के घर छापा : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अभिनेता सोनू सूद के घर सीबीआई के छापे पर कहा कि भाजपा बदले के किसी भी स्तर पर जा सकती है। सोनू सूद जब लोगों की सहायता कर कर रहे थे, तब अपनी तरफ लाने का प्रयास कर रहे थे। वो नहीं आये। और जैसे ही दिल्ली सरकार के साथ आये, उनके घर सीबीआई का छापा पड़ गया। हर्षमन्दर छत्तीसगढ़ में कलेक्टर थे, उनके घर ईडी का छापा पड़ा। भाजपा विरोध बिल्कुल बर्दाश्त नहीं कर पाती। जो विरोधी हैं, जो भाजपा के विचारों से इत्तेफाक नहीं रखते, उनको भाजपा कुचल डालना चाहती है।

भाजपा गांधी परिवार के बारे में बात न करे, तो ज्यादा अच्छा : राहुल गांधी के 20 सितम्बर के संभावित दौरे पर उन्होंने कहा कि इसकी जानकारी मुझे नहीं है। नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक द्वारा राहुल गांधी की वंशावली पूछे जाने पर सीएम ने कहा, गांधी परिवार के बारे में पूरा देश जनता है। गांधी परिवार के बारे में गोडसे को मानने वाले लोगों से प्रमाण लेने की जरूरत नहीं है। गांधी परिवार ने देश के लिए कुर्बानियां दी हैं। वे गोडसे और सावरकर के बारे में बात करें, तो ज्यादा अच्छा है। गांधी परिवार के बारे में न बात करें तो ठीक ही रहेगा।

इवेंट मैनेजमेंट में माहिर है भाजपा : पीएम मोदी के जन्मदिन पर भाजपा के सेवा-समर्पण अभियान पर मुख्यमंत्री ने कहा कि युवा कांग्रेस आज बेरोजगार दिवस मना रही है। ये काफी ट्रेंड हो रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इवेंट मैनेजमेंट में भाजपा के लोगों का कोई सानी नहीं है, वे केवल इवेंट करना जानते है देश की सेवा नहीं।

सीएम ने लोहार समाज से कहा- एकजुट हो जाओ, बोर्ड गठन कर देंगे : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल अपने एक दिवसीय दौरे पर बालोद जिला के जुंगेरा गांव पहुंचे। वहां लोहार समाज द्वारा आयोजित विश्वकर्मा जयंती में शामिल हुए। मुख्यमंत्री ने 10 लाख की लागत से बने सामाजिक भवन का लोकार्पण किया। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि आज इस मंच पर लोहार समाज के गौरव और तकलीफ दोनों पर चर्चा हुई। बहुत पहले की बात है, चंदूलाल चंद्रकार जी दिल्ली से जब वापस आये तब बोले कि बहुत दिन हो गए दिल्ली नहीं आए। मैं बोला, बबा यात्रा के लिए पैसा लगेगा। तब चंदूलाल चंद्राकर जी ने कहा कि घूमने के लिए पैसा नही, हुनर की जरूरत होती है। यही बात लोहार समाज में है, जिनके पास हुनर बहुत है। अब आधुनिक युग है, जहां हर काम मशीन से हो रहा है। आज सबसे बड़ी बात मोची बाटा हो गए और लोहार टाटा हो गए हैं। लोहार समाज ने कहा प्रशिक्षण की जरूरत है। छोटे-छोटे नट बोल्ट बनाने का काम कर सकते हैं। आधुनिक युग के साथ ट्रेनिग देना है। लौह शिल्प बोर्ड इसी लिए बनाया गया है, ताकि सभी लोहार भाइयों का विकास हो सके। उन्होंने कहा कि सब एक हो जाओ, गठन कर देंगे। समाज के लोग एक नही हो पा रहे हैं, इसीलिए अब तक गठन रुका है। छत्तीसगढ़ के पूर्वज जो सपना देखे थे कि छत्तीसगढ़ राज्य बनेगा तो विकास होगा। मगर 18 साल में कुछ नही हुआ। जब कांग्रेस सरकार में आई, तब लगा छत्तीसगढ़िया सरकार आई है। पानी गिरे या मत गिरे, सरकार किसानों को 9 हजार देगी। कांकेर और कोरबा में लाख की खेती बहुत होती है। कोदो कुटकी को भी किसानी का दर्जा दिया गया है। सभी के लिए योजना बनाये हैं। 52 प्रकार के लघु वनोपजों की खरीदी हो रही है। कोंडागांव में तिखुर का प्लांट लगा है, जो देश के बाहर वियतनाम जैसे देश में जा रहा है। हर समाज को कांग्रेस की सरकार ने प्राथमिकता दी है। सभी समाज के लोगों को ट्रेनिंग देकर उनका उत्पादन कलेक्टर के माध्यम से बेचा जाएगा। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि बाबा रामदेव ही थोड़ी हर सामान बेचेंगे। अब छत्तीसगढ़ का हर वर्ग अपना उत्पाद बेचेगा। गरीब से गरीब आदमी के हाथ में काम हो, पूर्वजों के इस सपना को पूरा करना है। मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वामी आत्मानंद स्कूल खोला गया ताकि सभी लोग अंग्रेजी बोल सकें। छत्तीसगढ़ सरकार में महिलाओं और बच्चों में कुपोषण दूर करने के लिए काम कर रही है। सभी समाज ने मिलकर कोरोना में काम किया है। सभी को एक जुट होकर काम करना है। छत्तीसगढ़ सरकार गोबर बेच सकती है, खरीद सकती है तो छत्तीसगढ़ को आत्मनिर्भर बनाने के लिए दूसरी चीजें भी बेची-खरीदी जा सकती है। लोहार समाज को भी सामाजिक भवन निर्माण के लिए जमीन दी जाएगी। मुख्यमंत्री बघेल ने सामाजिक भवन निर्माण, पानी टंकी और विद्युत विस्तार की मांग को पूरी करने की घोषणा की। साथ ही उन्होंने 15 लाख रुपए स्वीकृति देने का भी ऐलान किया। मुख्यमंत्री के याथ मंत्री शिव डहरिया, पीसीसी चीफ मोहन मरकाम, संसदीय सचिव कुंवर सिंह निषाद, विधायक संगीता सिन्हा, देवेंद्र यादव आदि मौजूद रहे।

Next Story