Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पहाड़ी कोरवा आश्रम में बड़ा 'खेल' : रजिस्टर में 24 बच्चे दर्ज, मिले महज 10

पहाड़ी कोरवा आश्रम में अधीक्षक द्वारा उपस्थिति पंजी में बच्चों का फर्जी आंकड़ा दर्ज कर किस कदर शासकीय राशि का दुरुपयोग किया जा रहा है इसका खुलासा एसडीएम के आकस्मिक निरीक्षण के दौरान हुआ। विगत दिनों छापामारी अभियान के दौरान एसडीएम जब पहाड़ी कोरवा आश्रम का आकस्मिक निरीक्षण करने पहुँचे तो वहाँ का हालत देख दंग रह गये।

पहाड़ी कोरवा आश्रम में बड़ा खेल : रजिस्टर में 24 बच्चे दर्ज, मिले महज 10
X

सीतापुर. पहाड़ी कोरवा आश्रम में अधीक्षक द्वारा उपस्थिति पंजी में बच्चों का फर्जी आंकड़ा दर्ज कर किस कदर शासकीय राशि का दुरुपयोग किया जा रहा है इसका खुलासा एसडीएम के आकस्मिक निरीक्षण के दौरान हुआ। विगत दिनों छापामारी अभियान के दौरान एसडीएम जब पहाड़ी कोरवा आश्रम का आकस्मिक निरीक्षण करने पहुँचे तो वहाँ का हालत देख दंग रह गये।

निरीक्षण के दौरान उपस्थिति पंजी में 24 बच्चे दर्ज थे जबकि आश्रम में मात्र दस बच्चे ही मौजूद थे। इसके अलावा बच्चों हालत काफी दयनीय नजर आ रही थी उनके साफ सफाई का जरा भी ध्यान नहीं रखा गया था। आश्रम के चारों ओर गंदगी का आलम था। जाड़े के इस मौसम में गरम कपड़ा नहीं होने की वजह से बच्चे ठंड में ठिठुर रहे थे। आश्रम सहित छोटे-छोटे बच्चों की यह दशा देख एसडीएम बिफर उठे और उन्होंने इस हालत के लिए जिम्मेदार अधीक्षक को कड़ी फटकार लगाते हुए व्यवस्था सुधारने के निर्देश दिए हैं।

बता दें कि विगत दिनों एसडीएम अनमोल विवेक टोप्पो छापामारी अभियान के तहत क्षेत्र के दौरे पर निकले थे। इस दौरान वो पहाड़ी कोरवा आश्रम जामझरिया का औचक निरीक्षण करने पहुँचे। निरीक्षण के दौरान आश्रम एवं वहाँ रहने वाले कोरवा बच्चों की हालत देख एसडीएम दंग रह गए। रखरखाव के अभाव में आश्रम के चारों ओर गंदगी का आलम था तो वही देखरेख के अभाव में बच्चों की भी काफी दयनीय स्थिति थी। निरीक्षण के दौरान एसडीएम ने जब उपस्थिति पंजी का निरीक्षण किया तो उसमें भी अधीक्षक की काली करतूतें उजागर हुई। अधीक्षक ने उपस्थिति पंजी में 24 बच्चे दर्ज कर रखे थे जबकि मौके पर मात्र दस बच्चे ही उपस्थित थे। यही हाल स्टॉक पंजी का भी था जो गैर तरीके से संधारित किया हुआ था। पहाड़ी कोरवा आश्रम में एक साथ इतनी सारी अव्यवस्था देख एसडीएम बिफर उठे और उन्होंने इस अव्यवस्था के लिए अधीक्षक को जमकर फटकार लगाई। उन्होंने अधीक्षक को आश्रम की व्यवस्था में सुधार लाने के निर्देश देते हुए कहा कि भविष्य में दोबारा ऐसी गलती न हो इसका ध्यान रखा जाए। निरीक्षण के दौरान तहसीलदार शशिकांत दुबे नायब तहसीलदार प्रमोद कुमार पटवारी नरेंद्र यादव दिलीप बाबू आदि उपस्थित थे।

गर्म कपड़ों के अभाव में ठंड से ठिठुर रहे थे बच्चे

जामझरिया का पहाड़ी कोरवा आश्रम खुले जगह में होने के कारण सर्दी के मौसम में वहाँ कड़ाके की ठंड पड़ती है। एसडीएम जब निरीक्षण करने पहुँचे तब ठंड काफी थी ऐसे में बच्चे गर्म कपड़ों के अभाव में ठंड से ठिठुर रहे थे। ये सब देखते हुए भी अधीक्षक द्वारा बच्चों के लिए गर्म कपड़ों की कोई व्यवस्था नहीं की गई थी ताकि बच्चे ठंड से बच सकें।

एसडीएम ने मुहैय्या कराई गर्म कपडे

निरीक्षण के दौरान ठंड से ठिठुरते देख एसडीएम अनमोल विवेक टोप्पो ने आश्रम के बच्चों के लिए स्वेटर, टोपी जैसे गर्म कपड़े मुहैय्या कराया। जिसे पाकर बच्चे काफी खुश हुए और उन्हें ठंड से राहत मिली।





Next Story