Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

भारत-चीन तनाव को देखते हुए तिब्बत बॉर्डर के लिए सेना रवाना

भारत-चीन के बीच सीमा पर तनाव के बीच अब हिमाचल प्रदेश में तिब्बत बॉर्डर पर तिब्बती विशेष सीमावर्ती बल की तैनाती की जा रही है। हालांकि, आधिकारिक तौर पर इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है।

भारत-चीन तनाव को देखते हु्ए तिब्बत बॉर्डर के लिए सेना रवाना
X
प्रतीकात्मक तस्वीर

भारत-चीन के बीच सीमा पर तनाव के बीच अब हिमाचल प्रदेश में तिब्बत बॉर्डर पर तिब्बती विशेष सीमावर्ती बल की तैनाती की जा रही है। हालांकि, आधिकारिक तौर पर इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है। लेकिन जवानों की रवानगी हुई है।

हिमाचल के किन्नौर और लाहौस स्पीति में लगती चीन की सीमाओं पर तैनाती के लिए एसएफएफ के जवान रवाना हुए हैं। शिमला पहुंचने पर तिब्बतियन समुदाय के लोगों ने इनका स्वागत किया और सीमाओं की सुरक्षा करने के लिए सैनिकों की हौसला अफ़जाई की। तिब्बतियन समुदाय के बच्चों, महिलाओं से लेकर बुजुर्गों ने शिमला के पंथाघाटी पहुंचने पर सैनिकों का अभिवादन किया।

तिब्बतियन समुदाय के लोगों का कहना है कि चीन की नापाक हरकतें हमेशा से देश के लिए ख़तरा रही है, लेकिन अब मौका आया है कि भारत सहित दुनिया चीन के फ़रेब को जान चुकी है। भारत-चीन सीमा पर भारतीय सेनाओं का साथ देने के लिए तिब्बतियन सेना भी बॉर्डर की रक्षा के लिए जा रही है। इसकी उन्हें खुशी है और चीन को धूल चटाने के लिए सेनाएं कंधे से कंधा मिलाकर काम करेंगी।

स्थानीय तिब्बती संसद के महासचिव पालदेन्द दुन्दु ने कहा कि केंद्र सरकार के आदेशों पर स्पेशल फोर्स सीमा की सुरक्षा के लिए रवाना हो रही है। इन जवानों की हौंसला अफजाई के लिए आज यहां इनका स्वागत किया और इनका मनोबल बढ़ाया है। उन्होंने कहा कि तिब्बती समुदाय चीन की विस्तावादी रोक लगाने के भारत को हमेशा अपना सहयोग देता रहा है।

बता दें कि स्पीति के समदो बॉर्डर पर मार्च और अप्रैल महीने में चीनी हेलीकॉप्टरों की आवाजाही देखी गई थी। उसके बाद हिमाचल पुलिस ने अपने 10 आईपीएस अफसरों का दल चीन से सटे हिमाचल के गांवों में भेजकर नागरिकों का उत्साह बढ़ाया था। प्रदेश पुलिस ने अपनी रिपोर्ट राज्यपाल के माध्यम से केंद्र को भेजी थी। इसके अलावा, सेना और वायुसेना ने भी हिमाचल तिब्बत बॉर्डर पर गश्त बढ़ाई थी।

Next Story