Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Elevated Railway Track के नीचे रोड और लाहली मालगाड़ी शेड को मिली स्वीकृति

एलिवेटिड ट्रैक बनने के बाद जहां दोनों ओर नीचे सड़क का निर्माण होता तो वहीं बजरंग भवन के पास पार्किंग भी बनाई जाएगी। इसके अलावा रेलवे ने स्टेशन पर बने माल शेड को लाहली में शिफ्ट करने के प्रोजेक्ट को भी अमलीजामा पहनाने के लिए हरी झंडी दे दी है।

Elevated Railway Track के नीचे रोड और लाहली मालगाड़ी शेड को मिली  स्वीकृति
X

हरिभूमि न्यूज : रोहतक

रेलवे एलिवेटिड ट्रैक पर रेलगाड़ी दौड़ने बाद नीचे रोड बनाने को लेकर रेलवे ने मंजूरी दे दी है। डबल फाटक पुल से लेकर सेक्टर पांच छह तक सड़क बनने से लोगों को काफी लाभ होगा। बजरंग भवन फाटक शहर के बीचोंबीच होने की वजह से रेलगाड़ी आने पर यहां काफी लंबा जाम लग जाता है। जिसे देखते हुए एलिवेटिड रेलवे ट्रैक का निर्माण किया जा रहा है। इसके लिए मालगाड़ी चलाकर ट्रायल भी किया जा चुका है। एलिवेटिड ट्रैक बनने के बाद जहां दोनों ओर नीचे सड़क का निर्माण होता तो वहीं बजरंग भवन के पास पार्किंग भी बनाई जाएगी। इसके अलावा रेलवे ने स्टेशन पर बने माल शेड को लाहली में शिफ्ट करने के प्रोजेक्ट को भी अमलीजामा पहनाने के लिए हरी झंडी दे दी है।

यहां जाना होगा आसान

नीचे सड़क का निर्माण होने के बाद रेलवे स्टेशन से बजरंग भवन, सोनीपत रोड और बस स्टैंड से राजीव गांधी स्टेडियम के बीच आने वाली जगहों पर आने जाने वालों के लिए पहुंचना आसान हो जाएगा। सबसे बड़ा फायदा बजरंग भवन व इसके आस पास की कॉलोनियों के निवासियों काे भी की होगा। रेलवे एलीवेटड ट्रैक के साथ-साथ सड़क का निर्माण होने से दोनों तरफ के मोहल्ला व कॉलोनी वासियों को रास्ते मिलेंगे। इससे शहर की मुख्य सड़कों पर ट्रैफिक कम हाे जाएगा। गांधी कैंप वासियों को शहर की ओर आने-जाने में सहूलियत होगी।

मुख्यमंत्री मिले रेल मंत्री से

साेमवार को मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने रेलवे मंत्री पीयूष गोयल से मुलाकात की। इस दौरान मंत्री ने मुख्यमंत्री को बताया कि रोहतक के दोनों प्रोजेक्ट स्वीकार कर लिए गए हैं। ये प्रोजेक्ट काफी दिनों से विचारधीन थे। हालांकि जब एलिवेटिड ट्रेक का निर्माण शुरू करवाया गया था। तभी कहा गया था एलिवेटिड ट्रैक के नीचे रोड बनेगा। लेकिन अभी तक रोड को रेलवे ने स्वीकृति नहीं थी। क्योंकि यह जमीन रेलवे की है। जबकि रोड हरियाणा सरकार ने बनवाना है।

Next Story