Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दीपेंद्र हुड्डा बोले- किसान आंदोलन के मुद्दे पर कांग्रेस लाएगी अविश्वास प्रस्ताव

उन्होंने कहा कि अब तक नौ दौर की बातचीत हो चुकी है। मगर सरकार टस से मस नहीं हो रही है और अपनी हटधर्मिता का परिचय दे रही है। किसान ही नहीं आम जनता का भी सरकार के प्रति रोष है। यही कारण है कि मुख्यमंत्री व सरकार के मंत्री अपने कार्यक्रम तक प्रदेश में नहीं कर पा रहे हैं।

दीपेंद्र हुड्डा बोले- किसान आंदोलन के मुद्दे पर कांग्रेस लाएगी अविश्वास प्रस्ताव
X

यमुनानगर के गांव बुबका में आयोजित किसान संवाद कार्यक्रम में दीपेंद्र हुड्डा को पगड़ी पहनाकर स्वागत करते आयोजक उमेश बुबका।

हरिभूमि न्यूज. यमुनानगर (रादौर)

कांग्रेस के राज्यसभा सांसद दीपेंद्र हुड्डा ने कहा कि कृषि के लिए तीन काले कानून बनाकर भाजपा का जनता से विश्वास उठ चुका है। किसान आंदोलन के मुद्दे पर कांग्रेस जल्द ही प्रदेश की विधानसभा में अविश्वास प्रस्ताव लाएगी। उन्होंने प्रदेश सरकार से बजट सत्र से पहले विशेष सत्र बुलाए जाने की मांग की। उन्होंने उक्त शब्द रादौर के गांव बुबका में आयोजित किसान संवाद कार्यक्रम के दौरान पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहे। मौके पर स्थानीय कांग्रेस के विधायक डॉ. बीएल सैनी भी मौजूद रहे।

सांसद दीपेंद्र हुड्डा ने कहा कि किसान आंदोलन के दौरान किसान शहीद हो रहेे हैं। लेकिन सरकार किसानाें की अनदेखी कर रही है। उन्होंने कहा कि अब तक नौ दौर की बातचीत हो चुकी है। मगर सरकार टस से मस नहीं हो रही है और अपनी हटधर्मिता का परिचय दे रही है। किसान ही नहीं आम जनता का भी सरकार के प्रति रोष है। यही कारण है कि मुख्यमंत्री व सरकार के मंत्री अपने कार्यक्रम तक प्रदेश में नहीं कर पा रहे हैं। इतिहास गवाह है कि किसानाें से टकराने वाली सरकार कभी सफल नहीं हो सकी। हुड्डा ने कहा कि किसान आंदोलन का नेतृत्व भी किसान कर रहे हैं और आंदोलन के नायक भी किसान ही हैं।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी केवल किसानों के हित में उनका समर्थन कर रही है और विपक्ष की मजबूत भूमिका निभा रही है। कुछ दिन पहले मुख्यमंत्री मनोहर लाल व उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला दिल्ली में प्रधानमंत्री व गृहमंत्री से मिलने गए थे। मगर इस दौरान उन्होंने किसानों के मुद्दे पर बात न कर केवल अपनी कुर्सी को बचाने के लिए उनसे विचार विमर्श किया। यदि वह इस दौरान किसानाें के हित पर उनसे बातचीत करते तो यह अच्छा होता। उनके इस कार्य से साबित हो गया है कि प्रदेश के मुख्यमंत्री व उपमुख्यमंत्री को किसानाें के हितों की परवाह नहीं है। वह तो केवल अपनी कुर्सी के लिए कार्य कर रहे हैं। चुनाव से पहले किसानों ने विश्वास कर दुष्यंत चौटाला व उसकी पार्टी को भाजपा के खिलाफ वोट दिया था। मगर चुनाव जीतने के बाद वही दुष्यंत चौटाला भाजपा की गोद में जाकर बैठ गया। जिससे किसानों के साथ विश्वासघात हुआ है। इसका बदला किसान व आम जनता आगामी चुनावों में लेगी।

मौके पर ग्रामीणों ने सांसद दीपेंद्र हुड्डा व डा. बीएल सैनी का पगड़ी पहनकर स्वागत किया। इस अवसर पर लाडवा के कांग्रेस विधायक मेवा सिंह, पूर्व विधायक राकेश कांबोज, विशाल सैनी, युवा जिला अध्यक्ष प्रदीप बिंद्रा, ब्लॉक अध्यक्ष उमेश बुबका आदि मौजूद थे।

Next Story