Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अपहृत नर्स खुद से नाटकीय ढंग से लौटी वापस, बयान के बाद खुलेगा अपहरण का राज

अपहृत नर्स ओम साहू मिल गई है. जिला अस्पताल में उसे स्वास्थ्य परीक्षण के लिए भेजा गया. उसके बाद पुलिस कर्मी उसे पुलिस अधीक्षक कार्यालय लेकर पहुँचे. अभी-अभी पता चला है कि उसे पुलिस मानिकपुर चौकी लेकर जा रहे हैं. नर्स को रलिया में अपहरणकर्ता रखे जाने की जानकारी सामने आ रही है. सूत्रों का दावा है कि अपहरण के इस साजिश में नर्स के ही परिवार के तार जुड़े हैं.

अपहृत नर्स खुद से नाटकीय ढंग से लौटी वापस, बयान के बाद खुलेगा अपहरण का राज
X

कोरबा. अपहृत नर्स ओम साहू मिल गई है. जिला अस्पताल में उसे स्वास्थ्य परीक्षण के लिए भेजा गया. उसके बाद पुलिस कर्मी उसे पुलिस अधीक्षक कार्यालय लेकर पहुँचे. अभी-अभी पता चला है कि उसे पुलिस मानिकपुर चौकी लेकर जा रहे हैं. नर्स को रलिया में अपहरणकर्ता रखे जाने की जानकारी सामने आ रही है. सूत्रों का दावा है कि अपहरण के इस साजिश में नर्स के ही परिवार के तार जुड़े हैं.

गौरतलब है कि हरदीबाजार पुलिस चौकी अंतर्गत आने वाले ग्राम भठोरा में निवासरत बेवा ओम साहू 40 वर्ष भिलाई बाजार प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में नर्स के पद पर पदस्थ है. शनिवार को रात करीब आठ बजे घर से अपनी स्कूटी क्रमांक सीजी 12 बीबी 9357 में अस्पताल ड्यूटी जाने निकली. अभी वह अस्पताल के ठीक सामने पहुंची थी कि बिना नंबर की एक स्कार्पियो उसके पीछे पहुंची और उसमें उतरे दो बदमाश रास्ता रोककर नर्स को स्कूटी से नीचे उतारा और हाथ खींच कर स्कार्पियो में जबरदस्ती बैठाकर अपहरण कर ले गए. इस घटना को अस्पताल में मौजूद कर्मचारियों व अन्य लोगों ने देखा. कुछ लोग चिल्लाते हुए स्कॉर्पियो का पीछा करने का प्रयास किए, पर देखते ही देखते अपहरणकर्ता लोगों की आंखों से ओझल हो गए.

इस घटना की जानकारी नर्स के पुत्र राजा साहू व पुत्री प्रियंका साहू को दी गई. साथ ही पुलिस को भी इससे अवगत कराया गया. हरदीबाजार पुलिस चौकी प्रभारी अभय सिंह बैस भागकर मौके पर पहुंचे. यहां प्रत्यक्षदर्शियों से जानकारी एकत्र करने पर पता चला कि अपहरणकर्ता भिलाई से हरदीबाजार रलिया रोड की ओर भागे हैं. तत्काल इसकी सूचना कंट्रोल रूम में दी गई और जिले में नाकेबंदी कर चौक चौराहों में वाहनों की जांच शुरू कर दी गई थी.



Next Story