Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दो बार की असफलता के बाद अब मिली सफलता, इस जिले की बेटी बनी एयरफोर्स में फ्लाइंग ऑफिसर...

निवेदिता बचपन से ही पायलट बनना चाहती थी। निवेदिता के पिता अशोक शर्मा उसे हमेशा कहते थे कि वह एक दिन एयरफोर्स जॉइन जरूर करेगी और आसमान में उड़ने का सपना जरूर पूरा करेगी। वह 15 जनवरी को हैदराबाद जाकर ट्रेनिंग सेशन का हिस्सा बनेगी। पढ़िये पूरी खबर-

दो बार की असफलता के बाद अब मिली सफलता, इस जिले की बेटी बनी एयरफोर्स में फ्लाइंग ऑफिसर...
X

दुर्ग। जिले की निवेदिता शर्मा का एयरफोर्स में सिलेक्शन हुआ है। निवेदिता का बचपन से ही सपना था कि वह बड़ी होकर एयरफोर्स ज्वाइन करेगी। इसके लिए निवेदिता के पिता ने भी उसका साथ दिया उसके पढ़ाई के लिए जीतोड़ मेहनत की। इसके लिए निवेदिता ने भी अपने सपने को पूरा करने के लिए प्रयास किये और अब एयरफोर्स जॉइन कर माता पिता, जिला और राज्य का नाम रोशन किया है। निवेदिता का एयरफोर्स में फ्लाइंग ऑफिसर के पद पर चयन हुआ है।

निवेदिता बचपन से ही पायलट बनना चाहती थी। निवेदिता के पिता अशोक शर्मा उसे हमेशा कहते थे कि वह एक दिन एयरफोर्स जॉइन जरूर करेगी और आसमान में उड़ने का सपना जरूर पूरा करेगी। वह 15 जनवरी को हैदराबाद जाकर ट्रेनिंग सेशन का हिस्सा बनेगी।

निवेदिता दो बार एयरफोर्स के एग्जाम में सिलेक्ट नहीं हो पाई। इसके बाद तीसरी बार एग्जाम दिया और सफलता मिली है। स्कूल के दिनों में निवेदिता के पापा के दोस्त ने निवेदिता की मुलाकात एक कर्नल से कराई थी। निवेदिता ने उनसे पायलेट बनने के बारे में पूछा तो उन्होंने उसे एयरफोर्स में जाने का रास्ता सुझाया। उसी समय से निवेदिता ने ठान लिया था कि वो एयरफोर्स में जाएगी।

Next Story