Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सरकारी इंग्लिश मीडियम स्कूल में पहली से आठवीं तक के छात्रों को सारी सुविधाएं मिलेगी निःशुल्क

सप्ताहभर में ही रिकार्ड आवेदन आने वाले सरकारी स्कूलों में फीस सहित दूसरी चीजों का भी निर्धारण कर दिया गया है। सरकारी इंग्लिश माध्यम स्कूल में पहली से आठवीं कक्षा तक के छात्रों को सारी सुविधाएं निशुल्क प्रदान की जाएंगी। वहीं नौवीं से बारहवीं कक्षा तक भी छात्रों से नाममात्र का ही शुल्क लिया जाएगा। सरकारी इंग्लिश माध्यम स्कूलों में भी फीस का स्ट्रक्चर वही रहेगा, जो शासकीय हिंदी माध्यम स्कूलों में रहता है।

सरकारी इंग्लिश मीडियम स्कूल में पहली से आठवीं तक के छात्रों को सारी सुविधाएं मिलेगी निःशुल्क
X

रायपुर. सप्ताहभर में ही रिकार्ड आवेदन आने वाले सरकारी स्कूलों में फीस सहित दूसरी चीजों का भी निर्धारण कर दिया गया है। सरकारी इंग्लिश माध्यम स्कूल में पहली से आठवीं कक्षा तक के छात्रों को सारी सुविधाएं निशुल्क प्रदान की जाएंगी। वहीं नौवीं से बारहवीं कक्षा तक भी छात्रों से नाममात्र का ही शुल्क लिया जाएगा। सरकारी इंग्लिश माध्यम स्कूलों में भी फीस का स्ट्रक्चर वही रहेगा, जो शासकीय हिंदी माध्यम स्कूलों में रहता है।

इसमें किसी भी तरह का कोई अंतर नहीं रहेगा।नियमानुसार आठवीं कक्षा तक के छात्रों को निशुल्क शिक्षा दी जाएगी। नौवीं से बारहवीं कक्षा तक कक्षावार तय राशि ली जाएगी। विभिन्न कक्षाओं में शुल्क 600 से 700 रुपए सालाना तक है। इसमें परीक्षा शुल्क, स्काउट-गाइड, खेल, ट्यूशन फीस सहित सभी गतिविधियों का शुल्क शामिल है। इसके अलावा किसी भी तरह की कोई भी फीस छात्रों से नहीं ली जाएगी।

इस प्रकार पालकों को औसतन केवल 50 रुपए फीस ही देनी होगी। प्रदेश के सभी शासकीय इंग्लिश माध्यम स्कूल में यही व्यवस्था होगी।मिड-डे मिल मेन्यू के मुताबिकअंग्रेजी माध्यम स्कूलों में भी छात्रों को मध्यान्ह भोजन प्रदान किया जाएगा। जो मेन्यू हिंदी माध्यम स्कूल के छात्रों के लिए तय किया गया है, वही मेन्यू इंग्लिश माध्यम स्कूल में भी होगा। इंग्लिश माध्यम की सभी किताबें भी छात्रों को निशुल्क ही प्रदान की जाएंगी।

भोजन और किताबों के साथ ही आठवीं कक्षा तक के छात्रों को गणवेश भी निशुल्क दिए जाएंगे। हालांकि अभी तक यूनिफॉर्म का रंग और डिजाइन तय नहीं हुआ है। सूत्रों के अनुसार यूनिफाॅर्म के रंग और डिजाइन पर अभी काम किया जा रहा है। इसे आकर्षक स्वरूप देने की तैयारी है, ताकि अधिक से अधिक पालक अपने बच्चों का दाखिला यहां कराएं।वर्जनफीस में अंतर नहींजो फीस हिंदी माध्यम स्कूलों में है, वही फीस इंग्लिश माध्यम स्कूलों में भी होगी। इसमें किसी भी प्रकार का कोई अंतर नहीं होगा। फीस की राशि नाममात्र ही है।- जीआर चंद्राकर, जिला शिक्षा अधिकारी, रायपुर

Next Story