Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

डीजे नहीं तो दारू सही, पार्टी मना के रहेंगे, नए साल का जश्न मनाने शराब परोसने की 28 अर्जीयां

डीजे पर रोक लेकिन नए साल पर छलकेंगे जाम, 28 जगहों पर शराब परोसने की अर्जी आई, होटल और रेस्टोरेंट में बड़े इवेंट पर पाबंदी, बारिश की वजह से ओपन स्पेस कार्यक्रम में खलल पड़ सकता है। कारोबार चौपट होने की आशंका है। न्यू ईयर के मौके पर गुपचुप तरीके से पुराने चेहरों को एंट्री देकर वीआईपी रोड स्थित कई होटलों में हुक्के का धुंए उड़ाने की भी आशंका, देहात इलाकों में न्यू ईयर में शराब के अवैध कारोबार की तैयारी में जुटे कोचिए पकड़े गए। पढ़िए पूरी ख़बर..

डीजे नहीं तो दारू सही, पार्टी मना के रहेंगे, नए साल का जश्न मनाने शराब परोसने की 28 अर्जीयां
X

रायपुर: प्रदेश में कोरोना संक्रमण की आशंका को देखते हुए नए साल के जश्न पर बड़ी संख्या में लोगों के जमा होने से लेकर डीजे की धुन पर थिरकने तक कई पाबंदियां लगाई गई हैं, लेकिन शराब पाीने वालों की जाम पर इसका असर नहीं होगा। राजधानी में नए साल के स्वागत में जाम छलकाने के लिए खासी तैयारियां की गई हैं। आबकारी विभाग को वन डे एफएल-05 लाइसेंस के लिए अर्जियां भी बड़ी संख्या में मिली हैं। आलम यह है कि शहर में नए साल के आगाज के तीन दिन पहले ही शराब के 28 काउंटर सज गए हैं। यहां शराब पिलाने आबकारी विभाग से लाइसेंस की मांग की गई है। सबसे ज्यादा होटल और रेस्टोरेंट से वन-डे लाइसेंस एफएल-05 के लिए अर्जियां दी गई हैं।

शराब पिलाने का लाइसेंस लेने जमकर मची होड़

शराब पिलाने का लाइसेंस लेने जमकर होड़ मची है। न्यू ईयर के ठीक पहले 28 जगहों पर शराब पिलाने की अनुमति मांगे जाने के बाद 30 दिसंबर तक कुछ और स्थानों के लिए अर्जियां लगाई जा सकती हैं। कलेक्टर की ओर से बार और रेस्टोरेंट में शराब कारोबार के संचालन के लिए पूर्व में तय समय रात 11 बजे तक है। वन-डे लायसेंस के लिए नया नियम लागू नहीं किया गया, तो पूर्व निर्धारित समयावधि के लिए ही लायसेंस जारी होंगे। मतलब रात 11 बजे के बाद शराब पिलाना अवैध माना जाएगा। आबकारी उपायुक्त अनिमेष नेताम ने बताया, कलेक्टर द्वारा तय गाइडलाइन के हिसाब से लाइसेंस जारी किया जाएगा।

लिमिटेड अतिथि, ज्यादा एंट्री फीस

बता दें क्षमता से 50 फीसदी लोगों को ही कार्यक्रमों में प्रवेश की अनुमति दिए जाने के बाद शहर में कई जगहों पर बड़े इवेंट रद्द करने फैसला किया गया है। बड़े सेलिब्रिटी बुलाने से भी इस बार परहेज किया जा रहा है। डीजे पर पहले ही कई तरह की पाबंदियां लगाई जा चुकी हैं, इन शर्तों के बाद भी जहां आयोजन हो रहे वहां एंट्री फीस कुछ ज्यादा रहेगी।

बैन हुक्का फिर सप्लाई

वीआईपी होटलों में एक बार फिर बैन किए गए हुक्का कारोबार की सुगबुगाहट तेज हो गई है। गुपचुप तरीके से पुराने चेहरों को एंट्री देकर वीआईपी रोड स्थित कई होटलों में अभी भी धुंए का छल्ला उड़ाने का कारोबार चल रहा है। हालांकि पुलिस इस बात से इनकार कर रही है, लेकिन न्यू ईयर के मौके पर गुपचुप तरीके से कारोबार को अंजाम देने की चर्चाएं गरमाने लगी है। हुक्का फ्लेवर की बाजार में काफी डिमांड होने की वजह से भी संभावना बढ़ी है।

शहर के पहले गांव में डेरा

देहात के इलाकों में न्यू ईयर के लिए शराब के अवैध कारोबार की तैयारी में जुटे कोचिए पकड़े गए हैं। आबकारी की टीम ने खरोरा रोड के आगे शराब के अवैध कारोबार के संदेह में पांच लोगों को पकड़ा है। आरोपियों से पूछताछ के बाद उनकी निशानदेही से गोवा पव्वा का भी स्टॉक जब्त किया गया है। आबकारी विभाग के अफसरों ने पूछताछ करने की बात कही है।

बारिश ने बढ़ाई टेंशन

लाइसेंस लेने वालों में कई छोटी-छोटी इवेंट कंपनियां भी शामिल हैं, जिन्होंने होटल और रेस्टोरेंट में कार्यक्रम तय किया है। कई जगहों में कलेक्टर द्वारा जारी गाइडलाइन के हिसाब से पास भी बांट दिए गए हैं, लेकिन दो दिन से बारिश का मिजाज देखकर परेशानी बढ़ती नजर आ रही है। बारिश की वजह से ओपन स्पेस पर कार्यक्रम में खलल पड़ सकता है। इससे कारोबार चौपट होने की आशंका है। दूसरी ओर वन-डे लाइसेंस के लिए कई आयोजकों ने आबकारी के पास डिपॉजिट भी जमा करा दी है। उन्हें लाइसेंस मिलने का इंतजार है।

Next Story