Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

केंद्र से मिले दो महीने के राशन का वितरण नहीं, श्वेतपत्र जारी करे सरकार

भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता व पूर्व मंत्री राजेश मूणत ने प्रदेश सरकार द्वारा पांच महीने का नि:शुल्क चावल की घोषणा पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार से मई-जून के लिए 2 लाख 770 मीट्रिक टन अनाज छत्तीसगढ़ को मिला था। यह अनाज हितग्राहियों को अब तक नहीं बंट पाया है।

केंद्र से मिले दो महीने के राशन का वितरण नहीं, श्वेतपत्र जारी करे सरकार
X

राशन की दुकान (प्रतीकात्मक फोटो)

भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता व पूर्व मंत्री राजेश मूणत ने प्रदेश सरकार द्वारा पांच महीने का नि:शुल्क चावल की घोषणा पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार से मई-जून के लिए 2 लाख 770 मीट्रिक टन अनाज छत्तीसगढ़ को मिला था। यह अनाज हितग्राहियों को अब तक नहीं बंट पाया है। केंद्र से मिले अनाज का मात्र 68 फीसदी ही राशनकार्ड धारियों को मिला है शेष अनाज गायब है। उन्होंने इसे लेकर राज्य सरकार को श्वेतपत्र जारी करने की मांग की।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जुलाई से नवंबर तक पांच महीने का राशन पीएम गरीब कल्याण योजना में देने की घोषणा की है। पीएम की घोषणा के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भी पांच महीने मुफ्त अनाज देने की घोषणा कर दी। मुख्यमंत्री ने यह नहीं बताया कि इसमें राज्य का कोटा कितना है? केवल यह कहा गया है कि पीएम गरीब कल्याण योजना के समकक्ष अतिरिक्त चावल दिया जाएगा। उन्होंने पूछा कि मई और जून में नि:शुल्क चावल का कितना वितरण किया? इस पर श्वेतपत्र जारी कर सार्वजनिक करे। हितग्राहियों की शिकायत है कि उन्हें नियमानुसार कम अनाज मिला है।

राशन में फिर कटौती की तैयारी

उन्होंने आशंका जताई कि गरीबों के अनाज पर सरकार की बुरी नजर लग गई है। पिछली बार प्रति राशनकार्ड 30-50 किलो की कटौती की गई। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार से पांच महीने के लिए लगभग 5 लाख 1 हजार 925 मीट्रिक टन अनाज मिलेगा। एक सदस्य को 50 किलो और पांच सदस्य वाले राशनकार्ड को 250 किलो अतिरिक्त राशन मिलेगा। उन्होंने आगे भी इसी तरह की कटौती होने की संभावना जताई है।


Next Story