Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

विधायकों के दिल्ली जाने का सिलसिला जारी, 3 विधायकों ने भरी उड़ान

कांग्रेस विधायकों के दिल्ली जाने का सिलसिला लगातार जारी है. आज भी कांग्रेस के कई विधायकों ने रायपुर से दिल्ली के लिए उड़ान भरी है. भिलाई विधायक देवेंद्र यादव, नवागढ़ से विधायक गुरुदयाल सिंह बंजारे और नारायणपुर विधायक चंदन कश्यप आज दिल्ली पहुँच चुके हैं.

विधायकों के दिल्ली जाने का सिलसिला जारी, 3 विधायकों ने भरी उड़ान
X

रायपुर. कांग्रेस विधायकों के दिल्ली जाने का सिलसिला लगातार जारी है. आज भी कांग्रेस के कई विधायकों ने रायपुर से दिल्ली के लिए उड़ान भरी है. भिलाई विधायक देवेंद्र यादव, नवागढ़ से विधायक गुरुदयाल सिंह बंजारे और नारायणपुर विधायक चंदन कश्यप आज दिल्ली पहुँच चुके हैं.

इधर सियासी गलियारे में चर्चा है की कुंवर निषाद, अनूप नाग, रेखचंद जैन, विनय भगत, ममता चंद्राकर, चक्रधर सिदार और लक्ष्मी ध्रुव भी दिल्ली के लिए रवाना हो चुके हैं. दिल्ली दरबार में छत्तीसगढ़ के विधायकों का जमावड़ा लगता जा रहा है.

क्रेडा अध्यक्ष मिथिलेश स्वर्णकार, विधायक मनोज मंडावी और भुनेश्वर बघेल के आज शाम को दिल्ली जाने की सूचना मिल रही है. दिल्ली पहुंचे कांग्रेस विधायकों का कहना है कि वे अपने निजी काम से रायपुर आए हैं. वही कुछ विधायकों का कहना है कि छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की भूपेश सरकार हर वर्ग के विकास के लिए काम कर रही है. हम चाहते हैं कि हमारे नेता दौरे के दौरान इन कामों को देखें.

दिल्ली जाने के लिए रायपुर पहुंच चुके सामरी विधायक चिंतामणि महाराज ने दौरा स्थगित कर दिया है. बताया जा रहा है, उनकी तबीयत खराब है. वे नवा रायपुर स्थित अपने आवास पर आराम कर रहे हैं. एक दिन पहले रायपुर उत्तर से विधायक कुलदीप जुनेजा के भी बीमार होने की बात सामने आई थी. पता चला है कि, जुनेजा भी दिल्ली जाने के लिए प्रस्तावित विधायकों की सूची में शामिल हैं.

सीएम भूपेश बघेल ने मुख्यमंत्री पद पर ढाई-ढाई साल के फॉर्मूले से फिर इनकार किया है. उन्होंने कहा, ऐसी किसी बात का कोई अस्तित्व नहीं है. विधायकों के दिल्ली दौरे को भी उन्होंने राजनीति से जोड़ने से इनकार किया. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा की मीडिया इसके पीछे क्यों पड़ी है. विधायक आते-जाते रहते हैं, कोई राजनीतिक घटनाक्रम हुई क्या? गए हैं तो आ जाएंगे. हर व्यक्ति स्वतंत्र है कोई आदमी आए-जाए जब कोई राजनीतिक घटनाक्रम हो तब जोड़ा जाना चाहिए. जब कोई घटना ही नहीं घट रही है तो उसे राजनीतिक चश्मे से क्यों देखा जा रहा है.

Next Story