Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Bihar Assembly Election 2020: मंगल पाण्डेय बोले महागठबंधन में मौन टूटा तो टूट जायेंगे सारे बंधन, कुशवाहा भी बताये जा रहे नाराज

Bihar Assembly Elections 2020: बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पाण्डेय ने कहा कि विपक्षी महागठबंधन में मौन बंधन चल रहा है। अगर इनका मौन टूटा तो विपक्षी महागठबंधन के सभी बंधन टूट जायेंगे। दूसरी ओर महागठबंधन में आरएलएसपी प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा के नाराज होने की चर्चाएं भी चल रही हैं। इसको लेकर आज कुशवाहा ने पटना में प्रदेश कार्यकारिणी की संयुक्त आपात बैठक बुलाई है।

mangal pandey said that silence is going on in opposition grand alliance
X
मंगल पाण्डेय

बिहार के स्वास्थ्य मंत्री एवं भाजपा नेता ने ट्वीट के माध्यम से कहा कि सूबे के विपक्षी मंहागठबंधन में सब कुछ ठीक-ठाक नहीं चल रहा है। उन्होंने कहा कि विपक्षी महागठबंधन में अभी मौन बंधन चल रहा है। मंगल पाण्डेय ने कहा कि विपक्षी महागठबंधन के दलों को अब यह महसूस हो चूका है कि ये गठबंधन अब सिर्फ मौन से ही चल सकेगा। मंगल पाण्डेय ने दावा किया कि अगर इनका मौन टूटा तो विपक्षी महागठबंधन के सभी बंधन यानि कि 'सभी सियासी दल' एक - एक करके के टूट जायेंगे। मंगल पाण्डेय ने कहा कि जनता तो अब विपक्षी महागठबंधन के सियासी दलों के बहकाबे से सामाजिक दूरी बन चुकी है। इसलिए अब विपक्षी महागठबंध के सियासी दल एक - दूसरे को ही ठगने में लगे हुए हैं।



दूसरी ओर विपक्षी महागठबंधन में आरएलएसपी सीटों के बंटवारे को लेकर नाराज बतायी जा रही है। जानकारी है कि इस बारे में आरएलएसपी अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा द्वारा आज राष्ट्रीय व प्रदेश कार्यकारिणी की आपात मिटिंग बुलाई गई है। चर्चाएं है कि इस बैठक में उपेंद्र कुशवाहा विपक्षी महागठबंधन से नाता तोड़ने की घोषणा कर सकते हैं। बैठक पटना के राजीव नगर स्थित कम्युनिटी हॉल में आयोजित होगी।

आरएलएसपी नेता माधवानंद ने एक बयान में कहा था कि सीटों के बंटवारे को लेकर राजद व कांग्रेस की नीयत ठीक नहीं है। चुनाव की तारीख का ऐलान कभी भी हो सकता है, पर अभी तक विपक्षी महागठबंधन के घटक दलों में सीटों के बंटवारे पर अभी तक कोई फैसला नहीं हुआ है। वहीं माधवानंद ने कहा था कि यदि रालोसपा विपक्षी महागठबंधन से अलग होती है तो इसके लिये कांग्रेस व राजद जिम्मेवार होंगे। ऐसी भी चर्चायें है कि उपेंद्र कुशवाहा रालोसपा के कार्यकारी उपाध्यक्ष कामरान को राजद में शामिल कराए जाने से भी नाराज हैं। कुशवाहा का मानना है कि राजद ने अपने सहयोगी दल को तोड़कर गठबंधन धर्म की मयार्दा को तोड़ा है। बताया जाता है कि महागठबंधन में रालोसपा द्वारा विधानसभा चुनाव लड़ने के 35 सीटों की मांग की जा रही है। लेकिन ऐसा बताया जा रहा है कि राजद विधानसभा चुनाव लड़ने के लिये रालोसपा को 10 से 12 सीटें ही देने को राजी है।

Next Story