Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बिहार चुनाव: रिजवान बोले- तेजस्वी की रैली में नौकरी मांगने नहीं पहुंचती लड़कियां, वजह है जंगलराज का खौफ

Bihar Assembly Elections 2020: पटना में एनडीए की प्रेसवार्ता में दानिश रिजवान ने कहा कि आपको तेजस्वी यादव की रैलियों में लड़कियां व महिलायें नौकरी मांगती हुई दिखाई नहीं देती होगी। क्योंकि उनके मन में आज भी जंगलराज का खौफ कायम है।

bihar election danish rizwan saya girls do not ask for jobs from tejashwi yadav
X

Bihar Assembly Elections 2020: एनडीए के प्रेस वार्ता में 'हम' नेता दानिश रिजवान ने विरोधियों पर बाले हमले।

Bihar Assembly Elections 2020: पटना में शनिवार को जदयू के मुख्यायल पर एनडीए की प्रेस वार्ता आयोजित हुई। जिसको जदयू नेता नीरज कुमार, पार्टी प्रवक्ता डॉ अजय आलोक व जीनराम मांझी की पार्टी 'हम' की ओर से पार्टी प्रवक्ता दानिश रिजवान ने संबोधित किया। इस दौरान एनडीए के अन्य नेता भी मौजूद रहे। संबोधन के दौरान एनडीए के सभी नेता के निशाने पर तेजस्वी यादव व चिराग पासवान व महागठबंधन निशाने पर रहा। इस दौरान एनडीए के नेताओं ने तेजस्वी यादव व चिराग पासवान के बीच सांठगांठ होने के आरोप भी लगाये।

'हम' प्रवक्ता दाशिन रिजवान ने प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुये कहा कि क्या तेजस्वी की किसी रैली में आपको लड़कियां, महिलाएं दिखती हैं। नौकरी मांगती हैं, नहीं! क्यों, क्योंकि उन्हें याद है गौतम व सीमा विश्वास के चेहरे। दानिश रिजवान ने कहा कि महिलाओं और लड़कियों के मन में आज भी उस युग का खौफ कायम है।

दानिश रिज़वान ने आरोप लगाया कि 15 साल पहले राष्ट्रीय जनता दल 'राजद' ने राजनीति का अपराधीकरण किया था। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार के 15 सालों में शिक्षा, स्वास्थ्य, सड़क, बिजली, पानी, महिला सशक्तिकरण के मामले में एनडीए की सरकार ने अच्छा काम किया है।

रावण की गोद में बैठकर रामराज्य की बात कर रहे चिराग पासवान: रिजवान

दानिश रिजवान ने अपने संबोधन के दौरान चिराग पावान को भी निशाने पर लिया। रिजवान ने कहा कि जंगलराज के शुभचिंतक चिराग पासवान को जन्मदिन की शुभकामनाएं। चिराग अपने राजनीतिक अस्तित्व को बचाने के लिए तेजस्वी यादव के चरण स्पर्श कर रहे हैं। चिराग पासवान व तेजस्वी का आंतरिक गठबंधन है। रावण की गोद में बैठ कर एक इंसान रामराज्य की बात कर रहा है। दानिश रिजवान ने कहा कि चिराग पासवान व तेजस्वी यादव का आंतरिक गठबंधन हो चुका है। जिसकी चर्चा हर गली नुक्कड़ पर है। इसका असर आप जाकर राघोपुर में देख सकते हैं। वहां ये दोनों मिलकर जनता को बरगला रहे हैं। लेकिन जनता समझदार है।


दानिश रिजवान ने कहा कि विधानसभा चुनाव के बाद रामविलास को लगा था कि राजद उनके दामाद को टिकट देगी। लेकिन चिराग पासवान के मना करने पर नहीं दिया गया। क्योंकि चिराग को लगता था वे जीत जाएंगे व पार्टी कब्जा लेंगे।

दानिश रिजवान ने कहा कि हमें पूरी उम्मीद है बिहार के युवा, महिलाएं जो सुशासन के सहारे हैं, वो जमकर वोटिंग करेंगे व नीतीश कुमार को एक बार फिर से मुख्यमंत्री बनाएंगे।

Next Story