Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

छात्र के कोरोना संक्रमित होने पर साल नहीं होगा खराब, दोबारा मिलेगा परीक्षा देने का मौका

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच हिमाचल शिक्षा बोर्ड (Himachal Board of Education) ने बड़ा फैसला लिया है। शिक्षा विभाग ने कहा कि अब छात्र को कोरोना (Corona) होने पर भी उसकी साल बर्बाद नहीं होगी।

छात्र के कोरोना संक्रमित होने पर साल नहीं होगा खराब, दोबारा मिलेगा परीक्षा देने का मौका
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच हिमाचल शिक्षा बोर्ड (Himachal Board of Education) ने बड़ा फैसला लिया है। शिक्षा विभाग ने कहा कि अब छात्र को कोरोना (Corona) होने पर भी उसकी साल बर्बाद नहीं होगी। अब बोर्ड परीक्षा के दौरान अगर कोई छात्र कोरोना पॉजीटिव पाया जाता है, तो ऐसे में उन्हें परीक्षा (Education) में नहीं बैठाया जाएगा। बल्कि बाद में उनकी फाइनल परीक्षाएं आयोजित की जाएगी। शिक्षा विभाग ने इस बाबत सभी जिला उपनिदेशकों व प्रिंसीपल को पत्र लिखकर अवगत करवा दिया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, शिक्षा विभाग (Education Department) की ओर से कहा गया है कि सिमटम होने पर छात्रों के कोरोना टेस्ट लिए जाएं। अगर छात्रों की रिपोर्ट पॉजीटिव आती है, तो ऐसे में उन्हें परीक्षा में अपसेंट न माना जाएं, बल्कि कोविड रिजन बताया जाए। विभाग की ओर से साफ किया गया है कि ऐसे छात्रों की क्वारंटीन पीरियड (Quarantine period) पूरा होने के बाद बोर्ड से अलग से प्रश्न पत्र तैयार करवाए जाएंगे।

वहीं बाद में संक्रमित छात्रों की परीक्षाएं आयोजित होगी। अहम यह है कि संक्रमित होने वाले छात्रों का रिजल्ट भी देरी से आएगा। शिक्षा विभाग ने स्कूल प्रबंधन को परीक्षाओं से पहले कोविड की गाइडलाइन (Guideline) का पालन करने को कहा है। विभाग ने साफ किया है कि सभी स्कूल प्रबंधन को बोर्ड की फाइनल परीक्षा (Final Examination) से पहले इस बात का ध्यान रखना होगा कि छात्रों को सोशल डिस्टेंस में बैठाने की व्यवस्था की जाए।

शिक्षा विभाग के निदेशक अमरजीत शर्मा ने यह भी साफ किया है कि सभी स्कूल प्रिंसीपल (School principal) को छात्रों के संक्रमण की रिपोर्ट भी भेजनी होगी। विभाग की ओर से जारी पत्र में यह भी कहा गया है कि जिन संक्रमण के मामले आने के बाद कितने दिन तक स्कूल को बंद किया गया, इसके बारे में भी विभाग को अवगत करवाएं।

Next Story