Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हिमाचल में कल से खुलेंगे स्कूल, जानें क्या होंगी गाइडलाइंस

हिमाचल में कल से स्कूल खुलने जा रहे हैं। मंत्रिमंडल में लिए गए फैसले के अनुसार स्कूल में 50 फ़ीसदी अध्यापक ही स्कूल आ पाएंगे। नवीं कक्षा से लेकर बारहवीं कक्षा तक के छात्र ही स्कूल आ सकते हैं।

School Reopen: बिहार सरकार ने जारी की गाइडलाइन, 28 सितंबर से खुलेंगे स्कूल
X
प्रतीकात्मक तस्वीर

हिमाचल में कल से स्कूल खुलने जा रहे हैं। मंत्रिमंडल में लिए गए फैसले के अनुसार स्कूल में 50 फ़ीसदी अध्यापक ही स्कूल आ पाएंगे। नवीं कक्षा से लेकर बारहवीं कक्षा तक के छात्र ही स्कूल आ सकते हैं। स्कूल आने के लिए छात्रों को अपने साथ अभिभावकों से अनुमति पत्र साथ में लाना अनिवार्य होगा। स्कूल खोलने को लेकर जारी की गई एसओपी के अनुसार ही स्कूल में सारी व्यवस्था करनी जरूरी है। जारी एसओपी के अनुसार जो भी छात्र स्कूल खुलने के बाद आएंगे उन्हें बाहर खुले में शिक्षक पढ़ाएंगे।

शिक्षकों और छात्रों के बीच 6 फीट की दूरी को अनिवार्य किया गया है। स्कूल के प्रवेश गेट पर ही थर्मल स्कैनिंग की जाएगी और उसके बाद ही प्रवेश स्कूल कैंपस में दिया जाएगा। स्कूलों में सैनिटाइजेशन के साथ ही हाथ धोने के लिए साबुन भी रखना होगा। एसओपी में यह स्पष्ट किया गया है की बच्चों को स्कूल जाने के लिए किसी भी तरह से बाध्य नहीं किया जाएगा। अगर बच्चे चाहते हैं कि वह स्कूल जाकर किसी विषय से संबंधित अपने अध्यापक से कोई परामर्श लेना चाहते हैं तभी वह स्कूल आ सकते हैं। उसके लिए वह अपने अभिभावकों की लिखित अनुमति मिलने के बाद ही स्कूल आ सकेंगे।

ये होंगे स्कूलों के नए नियम

स्कूल आने के लिए छात्रों को अलग-अलग समय दिया जाएगा। छात्रों को स्कूल के कैंपस में एकत्र नहीं होने दिया जाएगा ना ही खेलकूद की गतिविधियां और प्रार्थना भी नहीं करवाई जाएगी। जिस छात्र में जुखाम,खांसी और बुखार जैसे लक्षण है उन्हें स्कूल में आने की अनुमति नहीं दी जाएगी। अगर कोई बच्चा बीमार महसूस करता है तो उसकी तुरंत जानकारी अधिकारियों को शिक्षकों को देनी होगी। इसके साथ ही कैंपस में साफ सफाई की व्यवस्था का भी पूरा प्रबंध किया जाएगा। शनिवार और रविवार को स्कूलों में इसके लिए विशेष सफाई अभियान चलाया जाएगा। वहीं शिक्षा विभाग ने भी स्पष्ट किया है कि बायोमेट्रिक पर शिक्षकों और गैर शिक्षकों की हाजिरी नहीं लगाई जाएगी।


Next Story