Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

रोहतक जाट कॉलेज की दो कुश्ती खिलाड़ियों ने ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया

अलमाटी में सोनम मलिक और अंशु मलिक ओलंपिक के लिये क्वालीफाई किया है। ये दोनों पहलवान जाट कॉलेज में बीए की पढ़ाई कर रही हैं। उनकी इस उपलब्धि से जाट शिक्षण संस्थाओं में खुशी की लहर है।

रोहतक जाट कॉलेज की दो कुश्ती खिलाड़ियों ने ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया
X

हरिभूमि न्यूज. रोहतक

अखिल भारतीय जाट सूरमा स्मारक महाविद्यालय में पढ़ने वाली दो महिला पहलवानों अंशु मलिक (57 किग्रा) तथा सोनम मलिक (62 किग्रा) ने कजाकिस्तान के अल्माटी में ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया। अपने-अपने भार वर्गों के फाइनल में पहुंचकर इस साल होने वाले टोक्यो ओलंपिक के लिए कोटा हासिल कर लिया है।

ये दोनों पहलवान जाट कॉलेज में बीए की पढ़ाई कर रही हैं। उनकी इस उपलब्धि से जाट शिक्षण संस्थाओं में खुशी की लहर है। सभी ने उनके मेडल जीतने की कामना की। मंडल आयुक्त एवं जाट शिक्षण संस्था की प्रशासक अनिता यादव ने दोनों खिलाड़ियों को बधाई दी और उनके उज्जवल भविष्य की कामना की। प्राचार्या डॉ. संगीता दलाल ने कहा कि वे दोनों खिलाड़ी अपने दमखम के बल पर ओलंपिक में मेडल जीतकर कॉलेज व देश का नाम रोशन करेंगी।

कॉलेज के शारीरिक शिक्षा विभाग के अध्यक्ष डॉ. सुखबीर सिंधु ने बताया कि सोनम मलिक सोनीपत की रहने वाली हैं वहीं अंशु मलिक जींद की निवासी हैं। उन्होंने बताया कि पिछले साल दिसंबर में बेलग्रेड में हुई कुश्ती विश्वकप प्रतियोगिता में अंशु ने देश के लिए रजत पदक जीता था। पहले से अच्छी तैयारी और विश्वकप में जीत के बाद अंशु मलिक के हौसले बुलंद हैं। ऐसे में उन्हें उम्मीद थी कि ओलंपिक के लिए भी वे अपना टिकट पक्का कर लेंगी।

उन्होंने बताया कि अंशु मलिक के पिता धर्मबीर मलिक अपने जमाने के जाने माने पहलवान हैं। अंशु ने मात्र 11 साल की उम्र से ही अपने भाई अंकित से प्रेरित होकर कुश्ती की दुनिया में कदम रखा। अंशु मलिक के दादा वीर सिंह पूर्व अंतरराष्ट्रीय एथलीट हैं। ताऊ हरियाणा केसरी पवन कुमार साउथ एशियन गेम्स के स्वर्ण पदक विजेता पहलवान हैं।

Next Story