Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

आपत्तिजनक टिप्पणी मामला : अब स्टेट क्राइम ब्रांच करेगी युवराज सिंह, मुनमुन दत्ता व युविका चौधरी पर दर्ज केस की जांच

तीनों सेलिब्रिटीज पुलिस के सामने जांच में शामिल हो चुके थे तथा हाईकोर्ट के आदेश पर जांच अधिकारी द्वारा तीनों आरोपी सेलेब्रिटीज़ को औपचारिक रूप से गिरफ्तार करने के बाद अंतरिम जमानत भी दे दी गई थी

आपत्तिजनक टिप्पणी मामला : अब स्टेट क्राइम ब्रांच करेगी युवराज सिंह, मुनमुन दत्ता व युविका चौधरी पर दर्ज केस की जांच
X
युवराज सिंह, मुनमुन दत्ता और युविका चौधरी

हरिभूमि न्यूज : हांसी ( हिसार )

पूर्व क्रिकेटर युवराज सिंह, टीवी अभिनेत्री मुनमुन दत्ता उर्फ बबीता जी तथा फ़िल्म अभिनेत्री युविका चौधरी के खिलाफ हांसी के थाना शहर में दलित अधिकार कार्यकर्ता व अधिवक्ता रजत कल्सन द्वारा एससी- एसटी एक्ट के तहत दर्ज मुकदमों की जांच हांसी पुलिस से वापस लेकर स्टेट क्राइम ब्रांच हरियाणा को ट्रांसफर कर दी गई है।

शिकायतकर्ता रजत कलसन ने बताया कि आज वह जांच अधिकारी डीएसपी विनोद शंकर के लघु सचिवालय हांसी स्थित कार्यालय में जांच की ताजा स्थिति पता करने के लिए गए तो वहां पर उन्हें बताया गया कि कल ही सरकारी आदेश आए हैं तथा इन आदेशों के मुताबिक इन आरोपी सेलेब्रिटीज़ के खिलाफ जांच उनसे वापस लेकर स्टेट क्राइम ब्रांच हरियाणा को ट्रांसफर कर दी गई है जिसकी जांच स्टेट क्राइम ब्रांच हरियाणा की हिसार शाखा के अधिकारी करेंगे। इस बात की पुष्टि हांसी के डीएसपी व उपरोक्त मुकदमों के जांच अधिकारी विनोद शंकर ने की भी की है। हरियाणा सरकार व हरियाणा पुलिस के इस कदम को गैरकानूनी बताते हुए शिकायतकर्ता रजत कल्सन ने कहा कि हांसी पुलिस उपरोक्त सेलिब्रिटीज के खिलाफ दर्ज मुकदमों की जांच पूरी कर चुकी थी तथा केवल हिसार की एससी एसटी एक्ट के तहत स्थापित विशेष अदालत में चालान फाइल करना बाकी रह गया था।

यहां तक कि तीनों सेलिब्रिटीज पुलिस के सामने जांच में शामिल हो चुके थे तथा हाईकोर्ट के आदेश पर जांच अधिकारी द्वारा तीनों आरोपी सेलेब्रिटीज़ को औपचारिक रूप से गिरफ्तार करने के बाद अंतरिम जमानत भी दे दी गई थी तथा इन तीनों आरोपी सेलिब्रिटी से पूछताछ भी लगभग पूरी हो चुकी थी तथा इनके मोबाइल तथा लैपटॉप भी हांसी पुलिस ने अपने कब्जे में ले लिए थे। कलसन उसने बताया की मुकदमे की जांच को दिग्भ्रमित करने के लिए तीनों आरोपी सेलिब्रिटी की दरखास्त पर सरकार ने गैर कानूनी कदम उठाते हुए इस जांच को ट्रांसफर किया है तथा हरियाणा सरकार तथा हरियाणा पुलिस पर भारी राजनीतिक दबाव है ।

कल्सन ने आशंका जताई कि साजिश के तहत इन तीनों सिलेब्रिटीज को बचाने के लिए जांच की दिशा को बदल कर मुकदमों को खारिज किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि इस मामले में पैसे तथा राजनीतिक प्रभाव के इस्तेमाल से इनकार नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा कि वह इस बारे में पंजाब हरियाणा हाई कोर्ट में याचिका दायर कर हरियाणा पुलिस को निर्देश जारी कराने की मांग करेंगे कि इस मामले में जल्द से जल्द विशेष अदालत में सीआरपीसी की धारा 173 के तहत अंतिम रिपोर्ट पेश की जाए तथा तीनों आरोपी सेलिब्रिटीज के खिलाफ मुकदमा शुरू किया जाए।

और पढ़ें
Next Story