Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अब महेंद्रगढ़ जिला सीधा मुंबई से जुड़ेगा, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने दी ये साैगात

केंद्रीय भूतल परिवहन मंत्रालय द्वारा राष्ट्रीय राजमार्ग नंबर 148बी को पनियाला मोड़ से सीधा आगे बढ़ाते हुए अलवर के साथ से निर्माणाधीन दिल्ली वड़ोदरा मुंबई एक्सप्रेसवे मार्ग से जोड़ने का निर्णय लिया है।

अब महेंद्रगढ़ जिला सीधा मुंबई से जुड़ेगा, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने दी ये साैगात
X
एक्सप्रेसवे का डिजाइन व विधायक डा. अभय सिंह यादव

हरिभूमि न्यूज : नारनौल

केंद्रीय भूतल परिवहन मंत्रालय द्वारा राष्ट्रीय राजमार्ग (National Highway) नंबर 148बी को पनियाला मोड़ से सीधा आगे बढ़ाते हुए अलवर के साथ से निर्माणाधीन दिल्ली वड़ोदरा मुंबई एक्सप्रेसवे मार्ग से जोड़ने का निर्णय लिया है। यह सूचना भूतल परिवहन मंत्रालय ने 8 सितंबर को पत्र के माध्यम से नांगल चौधरी के विधायक डा. अभय सिंह यादव (MLA Dr. Abhay Singh Yadav) को विगत माह 9 अगस्त को केंद्रीय भूतल परिवहन मंत्री नितिन गडकरी (Union Minister Nitin Gadkari) को उनके द्वारा लिखे गए अर्ध सरकारी पत्र के जवाब में भेजी है।

नांगल चौधरी के विधायक डॉ अभय सिंह यादव ने प्रेस को जारी एक विज्ञप्ति में इसका विस्तार से विवरण देते हुए बताया कि पिछले कई महीनों से वह इसके लिए केंद्रीय भूतल परिवहन मंत्रालय के अधिकारियों से लगातार संपर्क में थे तथा इसी कड़ी में 9 अगस्त को उन्होंने गडकरी को भी इस सड़क का महत्व एवं आवश्यकता का विवरण देते हुए एक पत्र लिखा था। गतदिवस सायंकाल उन्हें इस पत्र के जवाब में मंत्री जी के मंत्रालय से इस निर्णय की जानकारी मिली। उन्होंने इस रोड का विस्तार से महत्व बताते हुए कहा कि राष्ट्रीय राजमार्ग 148बी का दिल्ली- वड़ोदरा- मुंबई एक्सप्रेस मार्ग से जोडऩे का मतलब है न केवल महेंद्रगढ़ जिला अपितु पूरे उत्तरी भारत का सीधे मुंबई से जुड़ना। यह मार्ग निर्मित होने के बाद पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, जम्मू कश्मीर एवं साथ लगते राजस्थान समेत पूरे उत्तरी भारत का मुंबई सहित पश्चिमी भारत के शहरों के लिए सबसे छोटा मार्ग होगा।

धन एवं समय दोनों की बचत

यादव ने बताया कि इन राज्यों से आने वाले वाहन अंबाला से सीधा राष्ट्रीय राजमार्ग नंबर 152डी से नारनौल होते हुए राष्ट्रीय राजमार्ग नंबर 148बी से दिल्ली मुंबई एक्सप्रेस मार्ग पर पहुंच जाएंगे। इससे धन एवं समय दोनों की बचत के साथ ही राष्ट्रीय राजधानी में वाहनों के प्रदूषण में कमी आएगी तथा केएमपी समेत दिल्ली की सीमा से लगते हुए मार्गों पर भी यातायात का बोझ घटेगा। महेंद्रगढ़ जिले के आधारभूत ढांचे के विकास की श्रंखला में यह एक और महत्वपूर्ण कड़ी होगी। यह मार्ग भविष्य में उत्तरी भारत के व्यस्ततम मार्गो में से एक होगा जो दक्षिणी हरियाणा एवं विशेषत: महेंद्रगढ़ जिले को उत्तरी भारत को जाने वाले वाहनों के प्रवेश द्वार के रूप में विकसित करने में सहायक होगा। सीधा मुंबई मार्ग से जुड़ने से हरियाणा के बीचों-बीच गुजरने वाला यह मार्ग पूरे हरियाणा की अर्थव्यवस्था में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने जा रहा है।

Next Story