Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

एक लाख की रिश्वत लेता जेल वार्डर गिरफ्तार, कैदी को उत्पीड़न से बचाने के लिए मांगे थे रुपये

जेल वार्डर को यह रुपये जेल में उम्रकैद के सजायफ्ता कैदी को परेशान नहीं करने की एवज में दिए गए थे, लेकिन विजिलेंस के हाथों धरा गया और अब खुद को सलाखों के पीछे रहना होगा।

एक लाख की रिश्वत लेता जेल वार्डर गिरफ्तार, कैदी को उत्पीड़न से बचाने के लिए मांगे थे रुपये
X

हरिभूमि न्यूज : नारनौल

विजिलेंस ने नसीबपुर जेल के जेल वार्डर को एक लाख रुपये बतौर रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया है। जेल वार्डर को यह रुपये जेल में उम्रकैद के सजायफ्ता कैदी को परेशान नहीं करने की एवज में दिए गए थे, लेकिन विजिलेंस के हाथों धरा गया और अब खुद को सलाखों के पीछे रहना होगा।

जानकारी के मुताबिक 8 सितंबर 2017 को महेंद्रगढ़ कोर्ट में पेशी के दौरान कुख्यात गैंगस्टर विक्रम उर्फ पपला को पुलिस पर फायरिंग करके उसके साथी छुड़ा ले गए थे। उसी मामले में सात आरोपितों में एक आरोपित संदीप उर्फ सिंधिया वासी साधा की ढाणी थाना नांगल चौधरी भी शामिल था। कोर्ट इस केस में संदीप को उम्रकैद की सजा सुना चुकी है औ वह जिला जेल नसीबपुर में बंद था। संदीप ने फोन पर अपने भाई हंसराज को बताया कि उसे जेल में परेशान किया जा रहा है। इसलिए वह एक लाख रुपये का इंतजाम करके दे। हंसराज गुरुवार को यही एक लाख रुपये लेकर नसीबपुर जेल गया तथा जेल वार्डर राजन को दे दिए।

तभी विजिलेंस ने राजन को वहीं रुपयों समेत धर-दबोच लिया। आरोपित राजन के विरुद्ध भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है, जबकि इस मामले में शामिल अन्य आरोपित जेल वार्डर गजेसिंह से कड़ाई से पूछताछ की जा रही है। विजिलेंस इंस्पेक्टर अजीत सिंह मुताबिक गजेसिंह ने ही संदीप की बात फोन पर हंसराज ने बता कराई थी औ यह रुपये उसे ही देने थे।

और पढ़ें
Next Story