Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

SI से छेड़छाड़ और दुष्कर्म का प्रयास करने का आरोपी ASI भेजा जेल, अपने ही थाने के हवालात में काटनी पड़ी रात

आरोपित पर एससी-एसटी एक्ट भी लगाया गया है। एसपी ने उसको सस्पेंड करने के साथ ही विभागीय जांच के आदेश दिए हैं। वहीं पूरे मामले पर सिटी थाना के एसएचओ से भी रिपोर्ट तलब की गई है।

3 कॉन्स्टेबल सस्पेंड, शराब पीकर उत्पात मचाने और अनुशासनहीनता के चलते हुई कार्रवाई
X

पुलिसकर्मी सस्पेंड

हरिभूमि न्यूज : सोनीपत

शहर के सिटी थाना में एसआई से छेड़छाड़ और दुष्कर्म का प्रयास करने के आरोपित एएसआई को जेल भेज दिया गया। डीएसपी की टीम ने उसको देर रात गिरफ्तार किया था। आरोपित पर एससी-एसटी एक्ट भी लगाया गया है। एसपी ने उसको सस्पेंड करने के साथ ही विभागीय जांच के आदेश दिए हैं। वहीं पूरे मामले पर सिटी थाना के एसएचओ से भी रिपोर्ट तलब की गई है।

खाकी को शर्मसार करने वाले एएसआई को पुलिस ने देर रात गिरफ्तार कर लिया। सिटी थाना में तैनात एएसआइ सतीश कुमार के खिलाफ साथी एसआई ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी। एसआई ने एसपी को दी शिकायत में आरोप लगाया था कि सतीश कुमार ने थाना में और अपनी कार में उसके साथ छेड़छाड़ की। वह दो महीने से उससे छेड़छाड़ व अश्लीलता कर रहा था। उसने थाने के महिला कक्ष में उसके साथ दुष्कर्म का प्रयास किया। अधिकारियों से शिकायत करने की बात कहने पर आरोपित एएसआई ने उसको नौकरी से निकलवा देने की धमकी दी और जातिसूचक व अपमानित करने वाली भाषा का प्रयोग किया। सिटी थाना पुलिस ने एसपी जशनदीप सिंह रंधावा के आदेश पर एएसआइ सतीश सिंह के खिलाफ छेड़छाड़ करने, दुष्कर्म का प्रयास करने और एससी-एसटी की धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की थी। एसपी ने इस मामले की जांच डीएसपी सिटी डा. रविंद्र कुमार को सौंपी है।

एसपी जशनदीप सिंह रंधावा ने आरोपित एएसआई समीश सिंह को सस्पेंड कर दिया है। उसके खिलाफ विभागीय जांच कराने का भी निर्णय लिया गया है। वहीं जांच अधिकारी डीएसपी डा. रविंद्र कुमार ने देर रात आरोपित एएसआई को गिरफ्तार कर लिया। उसको दोपहर में न्यायालय में पेश किया गया। जहां से उसको जेल भेज दिया गया। वहीं डीएसपी डा. रविंद्र कुमार ने पीड़ित एसआई के बयान दर्ज कर लिए हैं। मामले में सिटी थाना के एसएचओ से भी रिपोर्ट मांगी गई है। थाना परिसर में हुई घटना से एसपी और डीएसपी नाराज हैं। एएसआई सतीश कुमार के व्यवहार की जांच शुरू कराई गई है।

ट्रेनर बन गया था एएसआई

सिटी थाना में तैनात आरोपित एएसआई सतीश सिंह खुद ही ट्रेनर बन गया था। उसने एसआई को बताया था कि वह विभाग की लिखापढ़ी का मास्टर है। उसने ही नए भर्ती वाले एसआई-एएसआई को जांच करने, पर्चा काटने और जांच रिपोर्ट तैयार करने की बारीकियां समझाई हैं। अधिकारियों ने एएसआई के अन्य सहकर्मियों से भी उसके व्यवहार की जानकारी करनी शुरू कर दी है।

अपने थाने की हवालात में रहा सतीश

एएसआई सतीश सिंह लोगों को थाने की जिस हवालात में बंद करने की धमकी देता था, खुद को उसी हवालात में रहना पड़ा। डीएसपी डा. रविंद्र कुमार की टीम ने उसको रात में साढ़े दस बजे पुलिस लाइन परिसर से गिरफ्तार किया था। उसको रात में सिटी थाना की हवालात में बंद कर दिया गया। दोपहर में उसको न्यायालय में पेश किया गया। इस दौरान पुलिस ने आरोपित एएसआई से मीडिया की दूरी बनाए रखी।

Next Story