Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

धार्मिक स्थल तोड़ने के मामले में कार्यवाही पर फैसला, नगर बंद को आज भी व्यापारियों का समर्थन

सड़क चौड़ीकरण कार्य के दौरान प्रशासन ने धार्मिक स्थल पर चलाया बुलडोजर, युवा हिंदू संगठन के 24 सदस्य समिति के साथ प्रशासन की वार्ता। पढ़िए पूरी खबर-

धार्मिक स्थल तोड़ने के मामले में कार्यवाही पर फैसला, नगर बंद को आज भी व्यापारियों का समर्थन
X

सुकमा। धार्मिक स्थल तोड़ने के मामले में जिम्मेदारों पर कार्यवाही का आज फ़ैसला होगा। दोरनापाल के युवा हिंदू संगठन के 24 सदस्य समिति के साथ प्रशासन की वार्ता होगी। मामले को गंभीरता से लेते हुए सुकमा कलेक्टर चंदन कुमार वार्ता करेंगे। प्रशासन व हिन्दू संगठन की बैठक के बाद ही अंतिम फैसला होगा। बता दें आज भी दोरनापाल नगर पूर्ण बन्द को व्यापारियों का समर्थन है।

गौरतलब है कि सुकमा जिले के दोरनापाल में सड़क चौड़ीकरण कार्य के दौरान प्रशासन द्वारा धार्मिक स्थल पर बुलडोजर चला दिया गया था। इसके बाद घटना से आक्रोशित ग्रामीण सड़कों पर उतर आये और विरोध जताया।

मंदिर तोड़ने की कार्यवाही से आक्रोशित स्थानीय लोगों व हिंदू संगठनों ने सुकमा जिला बंद करवाया। ग्रामीण आक्रोशित हैं और इस कार्यवाही का विरोध कर रहे हैं। इधर तनावपूर्ण स्थिति के मद्देनजर भारी पुलिस बल तैनात किया गया है।

बता दें कि नेशनल हाईवे सुकमा कोंटा सी रोड पर एक करोड़ 1 करोड़ 70 हजार की लागत से 650 मीटर का फुटपाथ व सड़क निर्माण किया जाना है। इसके लिए नगर पंचायत के द्वारा शनिवार की शाम में तोड़फोड़ की गई, जिसे लेकर दोरनापाल में माहौल गरमा गया।

सड़क चौड़ीकरण को लेकर अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई नगर प्रशासन द्वारा की जा रही है। इसे लेकर स्थानीय लोगों का कहना है कि इस कार्रवाई के दौरान नगर प्रशासन का दोहरा मापदंड नजर आ रहा है।

Next Story