Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

गुरु घासीदास पर आपत्तिजनक शब्द से सतनामी समाज में आक्रोश, IAS अकादमी के डायरेक्टर के खिलाफ कार्रवाई की मांग

पीएससी मुख्य परीक्षा के डेस्टिनी पब्लिकेशन रायपुर के संस्थापक निदेशक डॉ. मनोज अग्रवाल पर गंभीर आरोप। पढ़िए पूरी खबर-

गुरु घासीदास पर आपत्तिजनक शब्द से सतनामी समाज में आक्रोश, IAS अकादमी के डायरेक्टर के खिलाफ कार्रवाई की मांग
X

रायपुर। आईएएस अकदामी के संचालक पर सतनामी समाज ने गुरु घासीदास के जीवन परिचय से छेड़छाड़ करने का आरोप लगाया है। इस घटना से आक्रोशित सतनामी समाज ने कलेक्टर और एसपी को ज्ञापन सौंपा है। प्रदेश सतनामी समाज छत्तीसगढ़ युवा प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष के निर्देश पर आज पूरा प्रदेश में ज्ञापन का दौर शुरू हुआ है।

समाज का आरोप है कि दर्शन शास्त्र छत्तीसगढ़ पीएससी मुख्य परीक्षा के डेस्टिनी पब्लिकेशन रायपुर के संस्थापक निदेशक डॉ. मनोज अग्रवाल ने किताब के पृष्ठ क्रमांक 16 में गुरु घासीदास सतनाम पंथ के विशेषताएं में आपत्तिजनक शब्द का प्रयोग किया है, जिस शब्द को संवैधानिक रूप से प्रतिबंध कर दिया गया है।

समाज का कहना है कि- 'उस शब्द का प्रयोग एक आईएएस अकादमी के संचालक द्वारा किया जाना घोर अपराध है, जानबूझ कर सतनामी समाज के भावनाओं को आघात पहुंचाया गया है, जिसके खिलाफ सख्त कार्यवाही की मांग की गई है।

इस दौरान प्रदेश अध्यक्ष दीपक मिरी रायपुर एसपी ऑफिस पहुंचे, उनके साथ सुशील जांगड़े कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष यूथ, सुनील गायकवाड़ प्रदेश महा सचिव, भूपेंद्र घृतलहरे संभाग अध्यक्ष, बलवंत खन्ना संभाग महासचिव शिव राज खुटे संभाग महासचिव रायपुर जिलाध्यक्ष विजय मांडे, महासचिव चूड़ामणि बांधे, रायपुर शहर अध्यक्ष कुलदीप मार्कण्डेय, जिला उपाध्यक्ष रायपुर रवि कोशले, आरंग प्रभारी राकेश देवहरे, दीपक ढिढ़ी एवं समस्त पदाधिकारियों द्वारा ज्ञापन सौंपा गया।








Next Story