Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बिलासपुर जिला न्यायालय में चोर पुलिस की पकड़म-पकड़ाई का हाई-वोल्टेज ड्रामा

केंद्रीय जेल से जिला न्यायालय पेशी लाया गया बंगलादेशी बंदी हथकड़ी खुलते ही भागने लगा। पुलिस चोर के पीछे पीछे कोर्ट परिसर में भाग रही थी। अचानक से चोर बेहोश होकर गिर गया और पुलिस ने उसे पकड़ लिया। पढ़िए पूरी ख़बर...

बिलासपुर जिला न्यायालय में चोर पुलिस की पकड़म-पकड़ाई का हाई-वोल्टेज ड्रामा
X

बिलासपुर: मूल रूप बंगलादेश के नैरोई के युवक इमरान (25) केंद्रीय जेल में चोरी के एक मामले में बंद है। मंगलवार को जिला न्यायालय में उसकी पेशी थी। इसके चलते अन्य कैदियों के साथ उसे भी जेल परिसर से जिला न्यायालय ले जाया गया। सभी कैदियों को कोर्ट के बैरक में रखा गया था। उनकी सुरक्षा के लिए पुलिसकर्मी भी पहरेदारी कर रहे थे।

दोपहर में पुलिस कर्मी उसे पेशी में लेकर कोर्ट के अंदर ले गए। वहां से वापस आने के बाद उसके साथी युवक को हथकड़ी लगाने के लिए उसका हथकड़ी खोला गया। तभी हथकड़ी खुलते ही इमरान भागने लगा। घबराए पुलिसकर्मी भी तत्काल एक्शन में आ गए और उसका पीछा करने लगे। भागते समय कैदी अचानक गिर गया और उसे पकड़ लिया गया। इस बीच उसकी तबीयत बिगड़ गई। तब उसे आनन-फानन में CIMS ले जाया गया। सूबेदार सोनू वर्मा ने बताया कि बंदी भागते हुए हांफ रहा था। इसके चलते बेहोश हो गया। उसे CIMS ले जाया गया। अब उसकी स्थिति ठीक है। इसलिए उसे वापस जेल भेज दिया गया है।

यहाँ सवाल ये भी उठ रहे हैं की अगर कैदी खुद ही हांफ कर ना गिरा होता तो बड़ी आसानी से भागने में भी सफल हो सकता था...

विचाराधीन बंदी के भागने की खबर मिलते ही जिला कोर्ट परिसर में हड़कंप मच गया। चोरी के आरोपी की सुरक्षा को लेकर भी वकील सवाल उठाते रहे। इस दौरान पुलिसकर्मियों को भागते देखकर वकील व पक्षकार भी हैरत में पड़ गए। इसके चलते वहां अफरा-तफरी की स्थिति बन गई। आरोपी के पकड़े जाने के बाद पुलिसकर्मियों ने राहत की सांस ली। जिला न्यायालय परिसर से कैदी को भागते देखकर पुलिसकर्मी भी हैरत में आ गए। यहां ड्यूटी में तैनात पुलिसकर्मियों को कुछ नहीं सूझ रहा था। दरअसल, बैरक में अन्य कैदी भी थे, जिन्हें छोड़कर जाने से सभी कतरा रहे थे। इस पर तीन पुलिसकर्मियों ने मुस्तैदी दिखाई और दौड़ते हुए उसका पीछा किया। पुलिस ने घेराबंदी कर उसे तत्काल दबोच लिया।

Next Story