Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

परीक्षा की अनुमति, लेकिन प्रदेश के विश्वविद्यालयों को आदेश का इंतजार

राज्य सरकार के आदेश के बाद ही प्रदेश के विश्वविद्यालय लेंगे परीक्षाएं

परीक्षा की अनुमति, लेकिन प्रदेश के विश्वविद्यालयों को आदेश का इंतजार
X

रायपुर. विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) की नई गाइडलाइंस के इंतजार के बीच सोमवार को भारत सरकार के गृह मंत्रालय ने केंद्रीय शिक्षा सचिव को पत्र लिखकर विश्वविद्यालयों और शैक्षिक संस्थाओं को परीक्षाएं कराने की अनुमति दे दी है। गृह मंत्रालय ने अपने पत्र में कहा है कि विश्वविद्यालयों को यूजीसी की गाइडलाइंस के अनुसार फाइनल ईयर/सेमेस्टर की परीक्षाएं कराना अनिवार्य है। परीक्षाएं कराने वाली संस्थाओं को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की गाइडलाइंस के तहत परीक्षाएं कराना चाहिए। इधर प्रदेश के विश्वविद्यालयों ने यह स्पष्ट कर दिया है कि राज्य सरकार द्वारा परीक्षाएं लेने अथवा कक्षाएं संचालित करने के संदर्भ में कोई आदेश नहीं दिया गया है। राज्य सरकार द्वारा आदेश जारी किए जाने के बाद ही उनके द्वारा परीक्षाएं ली जाएंगी तथा कक्षाएं संचालित की जाएंगी। केंद्र की अनुमति के बाद अब प्रदेश के विवि राज्य सरकार से दिशा-निर्देश की राह देख रहे हैं।

चार लाख छात्रों को इंतजार

प्रदेश के सभी विश्वविद्यालयों में स्नातक और स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम को मिलाकर लगभग 6 लाख छात्र अध्ययनरत हैं। अंतिम वर्ष-सेमेस्टर तथा प्राइवेट छात्रों के लिए परीक्षाएं आयोजित की जानी हैं। 4 लाख छात्र इस वर्ष परीक्षा में बैठेंगे। परीक्षा की घोषणा के बाद से ही ये छात्र समय-सारिणी का इंतजार कर रहे हैं। अब तक कोई भी सूचना किसी भी विवि द्वारा नहीं दी गई है।

जल्द जारी होंगी परीक्षा तिथियां

गौरतलब है कि केंद्रीय एचआरडी मंत्रालय की ओर से यूजीसी को अपनी गाइडलाइन्स पर पुनर्विचार के लिए कहा जा चुका है। ऐसे में यूजीसी को विश्वविद्यालयों की परीक्षाओं और नए अकादमिक सत्र 2020-21 को लेकर गाइडलाइन्स जारी करनी है। इस बात की जानकारी यूजीसी स्वयं दे चुका है कि बहुत जल्द ही नई गाइडलाइन्स जारी की जाएंगी। लेकिन गृह मंत्रालय की अनुमति से अब उम्मीद है कि यूजीसी गाइडलाइंस के साथ ही विश्वविद्यालयों की फाइनल ईयर परीक्षाओं की तिथियां भी जारी कर देगा।

राज्य सरकार द्वारा जो भी आदेश जारी किया जाएगा, उसके अनुसार ही रविवि परीक्षाएं आयोजित करेगा। फिलहाल कोई आदेश हमें प्राप्त नहीं हुआ है।

- सुपर्ण सेन गुप्ता, मीडिया प्रभारी, रविवि

एडवाइजरी परीक्षाओं के लिए जारी की गई हैं, कक्षाएं संचालित करने के लिए नहीं। राज्य सरकार तथा उच्च शिक्षा विभाग से जो भी दिशा-निर्देश प्राप्त होंगे, उसके आधार पर ही परीक्षाओं का आयोजन होगा।

- डॉ. अरुणा पल्टा, कुलपति, दुर्ग विवि

Next Story