Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बिहार विधानसभा चुनाव 2020: नेता जी को भैंस पर चढ़कर चुनाव प्रचार करना पड़ा महंगा, FIR दर्ज

गांधी मैदान गेट नंबर के नजदीक से राष्ट्रीय उलेमा काउंसिल के गया शहरी विधान सभा क्षेत्र के उम्मीदवार परवेज मंसूरी भैंस पर सवार होकर चुनाव प्रचार के लिए निकले।

बिहार विधानसभा चुनाव 2020: नेता जी को भैंस पर चढ़कर चुनाव प्रचार करना पड़ा महंगा, FIR दर्ज
X

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 का रण जीतने के लिए राजनीतिक दलों के नेता वोटरों को लुभाने की पूरी कोशिश कर रहे हैं। इसी क्रम में बिहार में एक नेता जी चुनाव प्रचार करने के लिए भैंस पर सवार होकर निकले। जोकि उन्हें महंगा पड़ गया। नेताजी के खिलाफ सिविल लाइन थाने में एफआईआर दर्ज हो गई। बताया जा रहा है कि पशु क्रूरता अधिनियम और सोशल डिस्टेंसिंग की अनदेखी के कारण राष्ट्रीय उलेमा काउंसिल के गया शहरी विधानसभा के उम्मीदवार परवेज मंसूरी के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है।

गांधी मैदान गेट नंबर के नजदीक से राष्ट्रीय उलेमा काउंसिल के गया शहरी विधान सभा क्षेत्र के उम्मीदवार परवेज मंसूरी भैंस पर सवार होकर चुनाव प्रचार के लिए निकले। परवेज मंसूरी के इस अंदाज को देख कर भीड़ भी जुटने लगी। परवेज का कहना है शहर में लगातार प्रदूषण का स्तर तेजी से बढ़ता जा रहा है। इसलिए हम भैंस पर चढ़े हैं, ताकि प्रदूषण न फैले। परवेज की सोच को समर्थन भी मिलने लगा, लेकिन सिविल लाइन के थानेदार ने उनपर कानूनी डंडा चला दिया। नेताजी के खिलाफ सिविल लाइन थाने में एफआईआर दर्ज की गयी है।

गांधी मैदान से स्वराजपुरी रोड पर पहुँचे नेताजी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया और आईपीसी की धारा 269 और धारा 270 के तहत पशु क्रूरता निवारण अधिनियम और सामाजिक दूरी की अवहेलना के नाम पर उन्हें गिरफ्तार कर बाद में उन्हें जमानत पर रिहा कर दिया। गया के एसएसपी राजीव मिश्रा ने बताया कि परवेज और उनके समर्थकों के खिलाफ सिविल लाइंस पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज की गई है। यह पशु अधिनियम के लिए क्रूरता की रोकथाम का उल्लंघन था। पुलिस जांच करेगी और उसके अनुसार आगे बढ़ेगी।

Next Story